Tuesday , September 19 2017
Home / AP/Telangana / तेलंगाना के 10 और आंध्र के 8 ख़ादिमुल हजाज का इंतेख़ाब

तेलंगाना के 10 और आंध्र के 8 ख़ादिमुल हजाज का इंतेख़ाब

हैदराबाद 31 मार्च: हज 2016 के लिए तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के ख़ादिमुल हजाज का इंतेख़ाब क़ुरआ अंदाज़ी के ज़रीये किया गया। सेक्रेटरी अक़लियती बहबूद सय्यद उम्र जलील और स्पेशल ऑफीसर हज कमेटी प्रोफेसर एस ए शकूर ने हज हाउस में क़ुरआ अंदाज़ी के ज़रीये तेलंगाना के 10 और आंध्र प्रदेश के 8 ख़ादिमुल हजाज का इंतेख़ाब किया।

मुंतख़ब किए गए ख़ादिमुल हजाज के अलावा दोनों रियासतों से हज कमेटी और वक़्फ़ बोर्ड के 2 , 2 ओहदेदार भी ख़ादिमुल हजाज की हैसियत से रवाना होंगे, जिनका इंतेख़ाब मुताल्लिक़ा इदारों की तरफ से किया जाएगा। क़ुरआ अंदाज़ी के मौके पर दोनों रियासतों के दरख़ास्त गुज़ार मौजूद थे।

पहले तेलंगाना की क़ुरआ अंदाज़ी अंजाम दी गई जिनमें ज़्यादा‍तर एसे ख़ादिमुल हजाज मुंतख़ब हुए जो पिछ्ले साल भी इस फ़रीजे पर रवाना हो चुके हैं। सेंट्रल हज कमेटी ने जारीया साल क़वाइद में तरमीम करते हुए 200 आज़मीन के लिए एक ख़ादिमुल हजाज को मुक़र्रर किया है जबकि पिछ्ले साल 300 आज़मीन के लिए एक ख़ादिमुल हजाज हुआ करता था।

तेलंगाना के हज कोटा 2532 के मुताबिक़ 12 ख़ादिमुल हजाज को रवाना किया जा रहा है, जिसके लिए 97 दरख़ास्तें वसूल हुईं जिनमें 8 को मुस्तर्द कर दिया गया। 10 ख़ादिमुल हजाज के लिए क़ुरआ अंदाज़ी की गई और मज़ीद 4 ख़ादिमुल हजाज को वेटिंग लिस्ट में रखा गया है। आंध्र प्रदेश का हज कोटा 2052 है , जिसके तहत 10 ख़ादिमुल हजाज का इंतेख़ाब किया गया, जिस के लिए 25 दरख़ास्तें दाख़िल की गईं जिनमें 3 दरख़ास्तों को नामंज़ूर कर दिया गया। 8 ख़ादिमुल हजाज का क़ुरआ अंदाज़ी के ज़रीये इंतेख़ाब किया गया और तीन को वेटिंग लिस्ट में रखा गया है।

क़ुरआ अंदाज़ी के बाद मीडिया के नुमाइंदों से बातचीत करते हुए सेक्रेटरी अक़लियती बहबूद सय्यद उम्र जलील ने बताया कि मुकम्मिल शफ़्फ़ाफ़ियत के साथ क़ुरआ अंदाज़ी की गई है। उन्होंने मुंतख़ब ख़ादिमुल हजाज को मश्वरा दिया कि वो पूरी दियानतदारी के साथ आज़मीन की ख़िदमत करें और शिकायत का कोई मौक़ा ना दें।

TOPPOPULARRECENT