Thursday , October 19 2017
Home / Hyderabad News / तेलंगाना बिल हैदराबाद का मौक़िफ़ असल रुकावट

तेलंगाना बिल हैदराबाद का मौक़िफ़ असल रुकावट

मर्कज़ी वज़ीर उमूर दाख़िला सुशील कुमार शिंदे ने तकरीबन इक़रार किया कि अलाहिदा तेलंगाना रियासत पर बिल को क़तईयत देने में वुज़रा के ग्रुप के लिए हनूज़ सब से बड़ा ख़लल हैदराबाद का मौक़िफ़ ही है।

मर्कज़ी वज़ीर उमूर दाख़िला सुशील कुमार शिंदे ने तकरीबन इक़रार किया कि अलाहिदा तेलंगाना रियासत पर बिल को क़तईयत देने में वुज़रा के ग्रुप के लिए हनूज़ सब से बड़ा ख़लल हैदराबाद का मौक़िफ़ ही है।

दिल्ली में ज़राए के बमूजब वज़ारत उमूर दाख़िला समझती है के वुज़रा के ग्रुप को एक नोट पेश करते हुए तेलंगाना रयासत हेदराबाद के लिए एक सेकोरेटी कमीशन के क़ियाम की तजवीज़ पेश की जाये।

तजवीज़ के मुताबिक़ कमीशन की क़ियादत गवर्नर (अगर दो गवर्नर्स हूँ तो तेलंगाना के गवर्नर यह अगर मर्कज़ी हुकूमत दोनों रियासत के लिए एक ही गवर्नर रखने को तरजीह देती है तो दोनों रियासत के गवर्नर) करेंगे और ये कमीशन चीफ मिनिस्टर, वज़ीर दाख़िला , दाख़िला, डायरेक्टर जनरल तेलंगाना और मर्कज़ी नुमाइंदा पर मुश्तमिल होगा और बाक़ी आंध्र प्रदेश रियासत के चीफ मिनिस्टर ख़ुसूसी मदऊ होंगे।

तकरीबन तमाम पार्टियों ख़ासकर तेलंगाना राष़्ट्रा समीति और मजलिस इत्तिहाद उलमुस्लिमीन ने हैदराबाद, हत्ता कि ला एंड आर्डर के मौज़ू पर किसी गैर जांबदाराना कंट्रोल की मुख़ालिफ़त की है।

मर्कज़ का ये ख़्याल है कि पेशरफ़्त के लिए यही एक मुनासिब रास्ता है। दूसरी तरफ जो ज़ेर ग़ौर है वो ये कि तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के लिए दो अलाहिदा सेकोरेटी कमीशनस क़ायम किए जाएंगे जिस की क़ियादत मुशतर्का गवर्नर नुमाइंदा गवर्नर्स करेंगे और जिन में चीफ मिनिस्टर, वज़ीरे दाख़िला और डी जी पी के अलावा मर्कज़ी हुकूमत के नुमाइंदा को बह हैसियत अरकान शामिल किए जाएं।

इस तजवीज़ के पिछे ये नज़रिया है दो रुख़ी है। अव्वल ये कि ये वुज़राती ग्रुप के शराइत क़ियाम की मुताबिक़त में हैकि उसे माबाद तक़सीम दोनों रियासतों में ला एंड आर्डर के उमूर की निगरानी करना है और ये तास्सुर देना हैकि मर्कज़ सिर्फ़ हैदराबाद पर ही तवज्जा मर्कूज़ नहीं कररहा है। दोम ये कि ये तेलंगाना क़ाइदीन की इमकानी मुख़ालिफ़त की शिद्दत को कम करेगा।

TOPPOPULARRECENT