Monday , October 23 2017
Home / Hyderabad News / तेलगू देशम को कमज़ोर करना के सी आर का मंसूबा , कांग्रेस के साथ साज़िश

तेलगू देशम को कमज़ोर करना के सी आर का मंसूबा , कांग्रेस के साथ साज़िश

सदर तेलगू देशम पार्टी मिस्टर एन चंद्रा बाबू नायडू का कयास है कि साल 2014 इंतिख़ाबात तक तेलंगाना राष़्ट्रा समीति में मिस्टर के चन्द्र शेखर राव सदर टी आर एस के हमराह सिर्फ उन के अरकान ख़ानदान ही रह जाएंगे क्यों कि रियासती अवाम बिलख़

सदर तेलगू देशम पार्टी मिस्टर एन चंद्रा बाबू नायडू का कयास है कि साल 2014 इंतिख़ाबात तक तेलंगाना राष़्ट्रा समीति में मिस्टर के चन्द्र शेखर राव सदर टी आर एस के हमराह सिर्फ उन के अरकान ख़ानदान ही रह जाएंगे क्यों कि रियासती अवाम बिलख़सूस तेलंगाना अवाम तेलंगाना राष़्ट्रा समीति के हक़ीक़ी खु़फ़ीया एजंडा से वाक़िफ़ हो चुके हैं जिस की वजह से आज तेलंगाना राष़्ट्रा समीति के हज़ारों कारकुनान बशमोल बाअज़ सिनयर क़ाइदीन मिस्टर के चन्द्र शेखर राव के मौका परस्त इक़दामात-ओ-अपने ज़ाती मफ़ादात पर मबनी सियासी फैसले करने के नतीजा में टी आर एस से अलहदगी इख़तियार कर रहे हैं ।

इलावा अज़ीं मिस्टर के चन्द्र शेखर राव सिर्फ और सिर्फ तेलगू देशम पार्टी को कमज़ोर करदेने की मंसूबा बंद मुनज़्ज़म साज़िश करते हुए कांग्रेस पार्टी और वाई एस आर कांग्रेस पार्टी से खु़फ़ीया मफ़ाहमत कर चुके हैं और इस खु़फ़ीया मफ़ाहमत के बाद ही तेलगू देशम पार्टी को अपना निशाना बनाते हुए गुमराह कुन इल्ज़ामात आइद कर रहे हैं । आज शाम एन टी आर ट्रस्ट भवन में तेलंगाना राष़्ट्रा समीति से अलहदगी इख़तियार कर के अपने हज़ारों कारकुनों-ओ-क़ाइदीन के हमराह दुबारा तेलगू देशम पार्टी में शामिल होने वाले मिस्टर सय्यद यूसुफ़ अली साबिक़ गर्वनमैंट विहिप-ओ-साबिक़ सदर नशीन रियासती वक़्फ़ बोर्ड का पार्टी में ख़ैर मक़दम करते हुए ज़िला निज़ाम आबाद के इन तमाम टी आर एस क़ाइदीन-ओ-कारकुनों को तेलगू देशम पार्टी में शामिल कर लेने का मिस्टर चंद्रा बाबू नायडू ने ऐलान किया और ख़िताब करते हुए सदर तेलगू देशम पार्टी ने तेलंगाना राष़्ट्रा समीति और इस के सदर मिस्टर के चन्द्र शेखर राव को अपनी सख़्त तन्क़ीद का निशाना बनाया और कहा कि टी आर एस और के सी आर इंतिहाई मौका परस्त जमाअत और क़ाइद हैं ।

मिस्टर नायडू ने इस तनाज़ुर को पेश नज़र रखते हुए जाने अनजाने भूले भटके और ग़लत फैसलों के ज़रीया तेलगू देशम पार्टी से अलहदगी इख़तियार करते हुए तेलंगाना राष़्ट्रा समीति में शामिल होने वाले तमाम क़ाइदीन-ओ-कारकुनों से दुबारा तेलगू देशम में शामिल हो जाने की पुर ज़ोर ख़ाहिश की और कहा कि ऐसे तमाम क़ाइदीन-ओ-कारकुनों को उन्हें मुनासिब मुक़ाम फ़राहम किया जाएगा । उन्हों ने मिसरस गमपा गवर्धन , पोचारम सिरि निवास रेड्डी और के चन्द्र शेखर राव का तज़किरा करते हुए कहा कि उन्हें तेलगू देशम पार्टी ने तय्यार कर के आला ओहदों पर भी फ़ाइज़ किया लेकिन अपने ज़ाती मफ़ादात और ओहदों की ख़ातिर तेलगू देशम पार्टी से बग़ावत कर के टी आर एस में शामिल हुए बिलख़सूस मिस्टर के चन्द्र शेखर राव ने महज़ उन्हें मुनासिब ओहदा हासिल ना होने पर तेलगू देशम पार्टी से बग़ावत कर के तेलंगाना राष़्ट्रा समीति की तशकील अमल में लाई ।

लेकिन वो दिन दूर नहीं हैं कि मिस्टर के चन्द्र शेखर राव की आमिरीयत से बेज़ारगी का इज़हार करते हुए एक के बाद दीगर अलहदगी इख़तियार करने के नतीजा में तेलंगाना राष़्ट्रा समीति ख़ाली हो जाएगी और सिर्फ मिस्टर के सी आर के अफ़राद ख़ानदान तक ही टी आर एस महदूद हो कर रह जाएगी । इस मौक़ा पर मिसरस सय्यद यूसुफ़ अली , एम नरसमहलु , ई दयाकर राव, आर चन्द्र शेखर रेड्डी , टी देवेंद्र गौड़ , एम वेंकटेश्वर राव और उन वीनू गोपाल राव क़ाइदीन तेलगू देशम पार्टी ने भी मुख़ातब किया और पार्टी सरगर्मियों को फ़रोग़ देने केलिए कमरबस्ता हो जाने की पर ज़ोर अपील की । मिस्टर एन चंद्रा बाबू नायडू ने जो इंतिहाई जज़बाती अंदाज़ में अपनी तक़रीर कर रहे थे कहा कि तेलगू देशम पार्टी को कोई भी ताक़त कमज़ोर नहीं कर सकेगी क्यों कि तेलगू देशम पार्टी का कैडर इतना मज़बूत-ओ-मुस्तहकम है कि किसी और पार्टी में इतना मज़बूत कैडर नहीं पाया जाता है । उन्हों ने मज़ीद कहा कि तेलगू देशम पार्टी की रुकनीयत साज़ी का तक़ाबुल भी और कोई सियासी जमाअत से नहीं किया जा सकता है ।

सदर तेलगू देशम पार्टी ने टी आर एस कांग्रेस और वाई एस आर के खु़फ़ीया मुफ़ाहमत और एजंडा का तज़किरा करते हुए कहा कि जब वो तेलंगाना में रीतू पूर्व बाटा के मौक़ा पर टी आर एस ने तेलगू देशम क़ाइदीन और उन पर हमला करवाने की कोशिश की लेकिन जब वाई एस आर कांग्रेस सदर मिस्टर जगन मोहन रेड्डी ने तेलंगाना में पुर्सा यात्रा का आग़ाज़ किया तो यही टी आर एस ने मिस्टर जगन मोहन रेड्डी का इस्तिक़बाल किया । और ये साबित कर दिया कि मिस्टर चन्द्र शेखर राव को अलहदा रियासत तेलंगाना से हरगिज़ कोई दिलचस्पी नहीं है । मिस्टर चंद्रा बाबू नायडू ने तेलंगाना के मसला पर तेलगू देशम के मौक़िफ़ का इज़हार करते हुए कहा कि तेलगू देशम पार्टी मिस्टर परनब मुकर्जी को अपना मकतूब रवाना कर के अपने मौक़िफ़ का इज़हार कर चुकी है । इस के बावजूद भी टी आर एस बार बार अपने मौक़िफ़ को वाज़ेह करने का तेलगू देशम पार्टी से मुतालिबा कर रही है और तेलंगाना अवाम को तेलगू देशम पार्टी के ताल्लुक़ से गुमराह करने की कोशिश कररही है ।

हक़ीक़त तो ये है कि अलहदा तेलंगाना मसला का इन्हिसार सिर्फ और सिर्फ मर्कज़ में बरसर-ए-इक्तदार कांग्रेस पार्टी पर है और मर्कज़ी कांग्रेस हुकूमत की ज़िम्मेदारी है कि वो जल्द से जल्द इस मसला की यकसूई के लिए राह हमवार करे । मिस्टर नायडू ने रियासत में शराब सिंडीकेट का तज़किरा करते हुए कांग्रेस की रियासती हुकूमत को अपनी सख़्त तन्क़ीद का निशाना बनाया और कहा कि काबीनी वुज़रा और अरकान असेंबली कांग्रेस पार्टी शराब सिंडीकेट मुआमलों में मुलव्विस हैं लेकिन चीफ मिनिस्टर इन के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने के बजाय उन्हें मुकम्मल तहफ़्फ़ुज़ फ़राहम करने के लिये कोशां हैं । उन्हों ने कहा कि रियासत में दूध से भी ज़्यादा शराब फ़रोख़त हो रही है और हुकूमत को अवाम की बहबूदसे कोई दिलचस्पी नहीं है ।

कांग्रेस हुकूमत में आंधरा प्रदेश हर लिहाज़ से तबाही के दहाने पर पहूंच चुकी है । मादिनी ज़ख़ाइर बे क़ाईदगियों के ज़रीया डाक्टर वाई एस राज शेखर रेड्डी हुकूमत में लौट लिए गए । मिस्टर चंद्रा बाबू नायडू ने कांग्रेस हुकूमत में बे क़ाईदगियों के इंतिहा को पहूंच जाने का तज़किरा करते हुए कहा कि कांग्रेस हुकूमत में ख़िदमात अंजाम देने वाले ओहदेदार जेल की सलाखों के पीछे चले जा रहे हैं जब कि तेलगू देशम हुकूमत में ख़िदमात अंजाम देने वाले ओहदेदार आला ओहदों पर फ़ाइज़ होरहे हैं ।

उन्हों ने साल 2009 में तेलगू देशम के तेलंगाना राष़्ट्रा समीति के साथ इंतिख़ाबी मुफ़ाहमत करने से पार्टी को हुए नुक़्सान का एतराफ़ किया और कहा कि टी आर एस के साथ इंतिख़ाबी मुफ़ाहमत उन की सियासी ज़िंदगी का सब से ग़लत इक़दाम था क्यों कि टी आर एस से मुफ़ाहमत की वजह से शहर हैदराबाद में तेलगू देशम को एक भी नशिस्त हासिल नहीं हुई जब कि बलदी इंतिख़ाबात में तन्हा मुक़ाबला कर के ज़ाइद अज़ 45 नशिस्तों पर कामयाबी हासिल की । उन्हों ने पार्टी क़ाइदीन-ओ-कारकुनों पर ज़ोर दिया कि वो पार्टी को मज़ीद मज़बूत-ओ-मुस्तहकम बनाने के लिए सरगर्म अमल हूजाएं ताकि आइन्दा इंतिख़ाबात में तेलगू देशम पार्टी के बरसर-ए-इक्तदार आने को यक़ीनी बनाया जा सके ।।

TOPPOPULARRECENT