Thursday , October 19 2017
Home / Khaas Khabar / तेलगू सीखने के लिए मुस्लिम तबक़ा का मुहतात रद्द-ए-अमल (प्रतिक्रिया)ग़लत

तेलगू सीखने के लिए मुस्लिम तबक़ा का मुहतात रद्द-ए-अमल (प्रतिक्रिया)ग़लत

इदारा सियासत के ज़ेर-ए-एहतिमाम गुज़शता बरसों की तरह इस साल भी ऐस एससी के ज़बान दुवम(2nd ) तेलगू के कोइसचन बैंक की रस्म इजराई तक़रीब को महबूब हुसैन जिगर हाल अहाता सियासत में मुख़ातब करते हुए जनाब आमिर अली ख़ान न्यूज़ ऐडीटर सियासत ने कह

इदारा सियासत के ज़ेर-ए-एहतिमाम गुज़शता बरसों की तरह इस साल भी ऐस एससी के ज़बान दुवम(2nd ) तेलगू के कोइसचन बैंक की रस्म इजराई तक़रीब को महबूब हुसैन जिगर हाल अहाता सियासत में मुख़ातब करते हुए जनाब आमिर अली ख़ान न्यूज़ ऐडीटर सियासत ने कहाकि मेहनत से कोई भी तालिब-ए-इल्म कामयाबी से हमकनार होता है।

तेलगू सरकारी ज़बान है। इस को सीखने के लिए मुस्लमान तबक़ा मुहतात रद्द-ए-अमल (प्रतिक्रिया) ज़ाहिर करता है जो सरासर ग़लत है। उन्हों ने एक वाक़िया के हवाला से बताया कि एक होनहार बा अख़लाक़ तालिब-ए-इल्म ने सिर्फ तेलगू ज़बान में दो निशानात से नाकाम होकर अपना क़ीमती साल ज़ाए होने से ना बचा सका।

तेलगू के इस कोइसचन बैंक के ज़रीया तालिब-ए-इल्म ना सिर्फ तेलगू ज़बान से वाक़िफ़ हो सकते हैं बल्कि कामयाबी हासिल कर सकते हैं। जिस तरह एक ग़ैर उर्दू दां जब उर्दू में बात करता है तो इस की सताइश करते हैं। इसी तरह अगर कोई ग़ैर तेलगू दां तेलगू में बात करें तो इस की सताइश होगी।

एज़ाज़ी मेहमान नईम उललला शरीफ़ सदर मुस्लिम एजूकेशनल डेवलपमनट फ़ोर्म ने कहा कि तेलगू सरकारी ज़बान है और जो भी सरकारी ज़बान होती है इस में तमाम सरकारी उमूर अंजाम दिए जाते हैं।

हम इस से भी बख़ूबी वाक़िफ़ होकर कामयाबी हासिल कर सकते हैं और तरक़्क़ी कर सकते हैं। प्रोग्राम का आग़ाज़ दुर शहवार हाई स्कूल की तालिबात आमना जहां, सादिया, समीना, अर्शिया की नाअत से हुआ। ए आर ऐम हाई स्कूल की तालिबात ने सारे जहां से अच्छा नज़म पढ़ी।

मुमताज़ कैरीयर कौंसिलर एम ए हमीद ने निज़ामत के फ़राइज़ अंजाम दिए। इस तक़रीब में जनाब शाकिर अहमद बूस्टन मिशन स्कूल, मसऊद अहमद दुर शहवार स्कूल, शेख़ कलीम उद्दीन ए आर ऐम हाई स्कूल,ख़लील उल रहमान न्यू मॉडल हाई स्कूल और दीगर(दूसरे) स्कूलस के ज़िम्मा दारान ने शिरकत की।

मुख़्तलिफ़ स्कूलस के तलबा-ए-ओ- तालिबात, असातिज़ा ने शिरकत की। आख़िर में एम ए हमीद ने शुक्रिया अदा किया।

TOPPOPULARRECENT