Wednesday , October 18 2017
Home / Hyderabad News / तक़सीम रियासत के पसेपर्दा मुहर्रिकात जलद बेनकाब होंगे

तक़सीम रियासत के पसेपर्दा मुहर्रिकात जलद बेनकाब होंगे

मुत्तहदा आंध्र प्रदेश के आख़िरी चीफ़ मिनिस्टर साबित होने वाले किरण कुमार रेड्डी जो रियासत की तक़सीम के साथ गोशा गुमनामी में चले गए थे अब दुबारा सुर्ख़ीयों में आने कोशां दिखाई दे रहे हैं।

मुत्तहदा आंध्र प्रदेश के आख़िरी चीफ़ मिनिस्टर साबित होने वाले किरण कुमार रेड्डी जो रियासत की तक़सीम के साथ गोशा गुमनामी में चले गए थे अब दुबारा सुर्ख़ीयों में आने कोशां दिखाई दे रहे हैं।

समझा जा रहा हैके किरण कुमार रेड्डी पिछ्ले एक साल से एक किताब तहरीर करने में मसरूफ़ थे जिस में वो रियासत की तक़सीम के पसेपर्दा मुहर्रिकात पर रोशनी डालना चाहते हैं।

ज़राए के मुताबिक़ आंध्र प्रदेश की तक़सीम के दौरान पसेपर्दा मुहर्रिकात क्या थे और क्या मुआहिदे हुए और किस ने किया वादा किया था इन तमाम चीज़ों को अपनी किताब के ज़रीये किरण कुमार रेड्डी बेनकाब करना चाहते हैं।

बताया हैके रियासत की तक़सीम के मुआमले में सदर कांग्रेस सोनीया गांधी नायब सदर राहुल गांधी सदर तेलुगु देशम चंद्रबाबू नायडू-ओ-बाज़ कांग्रेस क़ाइदीन के दोहरे मयार से मुताल्लिक़ तफ़सीलात किरण कुमार रेड्डी इस किताब में पेश करने कोशां हैं।

सयासी जमातों और क़ाइदीन ने अपना किस तरह का रोल अदा क्या इस ताल्लुक़ से तमाम तर दस्तावेज़ी सबूत उनके पास मौजूद है। समझा जाता हैके उस वक़्त के वज़ीर-ए-आज़म डॉ मनमोहन सिंह के अलावा सदर नशीन यू पी ए सोनीया गांधी के अलावा यू पी ए वुज़रा के साथ उनकी बातचीत से मुताल्लिक़ तफ़सीलात का भी रेड्डी किताब में इन्किशाफ़ करने वाले हैं।

रिपोर्टस का भी इस किताब में शायद तज़किरा करेंगे। किताब के नाम को अभी क़तईयत नहीं दी गई है। किरण कुमार रेड्डी अपने क़रीबी रफ़क़ा से इस किताब पर तबादला-ए-ख़्याल भी कर रहे हैं।

TOPPOPULARRECENT