Thursday , October 19 2017
Home / District News / दलितों और अक़लियतों की तरक़्क़ी के लिए ठोस इक़दामात

दलितों और अक़लियतों की तरक़्क़ी के लिए ठोस इक़दामात

तेलंगाना के सरकारी हॉस्पिटलों को कॉरपोरेट हॉस्पिटलों की तरह तरक़्क़ी फ़राहम करने के लिए तेलंगाना हुकूमत कोशां है।

तेलंगाना के सरकारी हॉस्पिटलों को कॉरपोरेट हॉस्पिटलों की तरह तरक़्क़ी फ़राहम करने के लिए तेलंगाना हुकूमत कोशां है।
तेलंगाना रियासत की टी आर एस हुकूमत अपने चुनाव मंशूर पर अमल अवारी की पाबंद है। हर हलके को आइन्दा 5 सालों में एक लाख एकड़ ज़मीन को सेराब करने का हुकूमत इरादा रखती है।

क़ियाम तेलंगाना के लिए अपनी क़ीमती जानें क़ुर्बान करने वाले ख़ानदानों 10 लाख रुपये ऐक्स गरीशया 3 एकड़ अराज़ी और ख़ानदान के एक फ़र्द को सरकारी मुलाज़िमत फ़राहम करने का इरादा है।

अनक़रीब आने वाला तहवार दशहरा के मौके पर वज़ीफे की रक़म में इज़ाफ़ा करने के लिए ठोस इक़दामात किए जा रहे हैं। इन ख़्यालात का इज़हार तेलंगाना रियासती डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर-ओ-वज़ीर-ए-सेहत टी राजिया ने अपने दौरा शादनगर के मौके
पर गेस्ट हाउज़ में मुनाक़िदा प्रेस कांफ्रेंस से मुख़ातब करते हुए किया।

उन्होंने कहा कि टी आर एस हुकूमत ने सुनेहरे तेलंगाना के ख़ाब को हक़ीक़त में तबदील करने को मद्द-ए-नज़र रखते हुए जामि ख़ानदानी सर्वे करवाया गया जो कि मुकम्मिल तौर पर कामयाब रहा।

जामि ख़ानदानी सर्वे प्रोग्राम के मुताल्लिक़ अप्पोज़ीशन जमातों के क़ाइदीन की तरफ् से जारी बयानबाज़ी को मुस्तर्द करते हुए कहा कि अवाम के फ़लाह-ओ-बहबूद प्रोग्राम में अपनी हिस्सादारी बनाए रखने की तलक़ीन की।

जामि ख़ानदानी सर्वे का अहम मक़सद मुस्तहिक़ ग़रीब ख़ानदानों को हुकूमत की तरफ से फ़राहम करदा इस्कीमात से इस्तेफ़ादा होसके तेलंगाना रियासत में तालीम पज़ीर हर एक मुस्तहिक़ ख़ानदान तरक़्क़ी की सिम्त गामज़न करना है हैदराबाद के अतराफ़-ओ-अकनाफ़ 100 किलो मीटर तक के इलाके को मुख़्तलिफ़ प्रोजेक्टों के ज़रीये तरक़्क़ी फ़राहम करने का हुकूमत का मंसूबा है।

TOPPOPULARRECENT