Saturday , July 22 2017
Home / India / दलित की बेटी की शादी में बैंड बाजा और जश्न की सजा, पीने वाले कुएं में डाल दिया किरासन

दलित की बेटी की शादी में बैंड बाजा और जश्न की सजा, पीने वाले कुएं में डाल दिया किरासन

भोपाल: मध्यप्रदेश के माना गावों में एक दलित की बेटी की धूमधाम से हुई शादी को सप्ताह भर ही बीता होगा कि यहां के दलित परिवारों को बड़ी मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है। यहां के लगभग 500 दलित जो कुएं से पानी भरते थे, इसमें अचानक किरासन तेल पाया गया है। दलितों ने प्रशासन को तुरंत इसकी सूचना दी, जिसके बाद कुएं से पंप के जरिए किरासन तेल मिला पानी निकाला गया। देखकर ऐसा लगता है कि जानबूझकर किरासन तेल डाला गया है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

एनडीटीवी की खबर के अनुसार दलितों का कहना है कि चूंकि चंद्र मेघवाल नामक व्यक्ति ने दलितों की धमकी को नजरअंदाज करके अपनी बेटी की शादी खूब धूमधाम से की थी, उसी के बदले के रूप में दबंगों ने कुएं के पानी खराब करने की साजिश रची है।

उल्लेखनीय है कि 23 अप्रैल को माना गांव में स्वतंत्रता के बाद पहली बार दलित समाज की एक जोड़ी की शादी में बैंड बाजे के साथ धूमधाम से बारात निकाली गई थी, लेकिन इसके लिए सरकार को सशस्त्र पुलिस बल तैनात करनी पड़ी थी ।

शादी से पहले चंद्र मेघवाल को दबंगों द्वारा चेतावनी दी गई थी कि अगर उसने ‘नियमों को तोड़ा तो उसके परिवार को कुएं से पानी नहीं भरने दिया जाएगा और न ही स्थानीय मंदिर में प्रवेश करने दिया जाएगा। मेघवाल ने कहा कि चूंकि उसकी बेटी की शादी धूमधाम से करने में अन्य दलित परिवारों ने भी खुलकर समर्थन किया था, इसलिए पूरे दलित समुदाय को निशाना बनाया गया। उसने बताया कि हम सब पानी के लिए इसी कुएं पर निर्भर हैं … उन्होंने इसमें किरासन तेल डाल दिया।

कुएं का पानी खराब हो जाने की वजह से दलित परिवारों की महिलाओं को पिछले छह दिनों से दो किलोमीटर दूर जाकर नदी से पानी लाना पड़ रहा है। हालांकि एक वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी ने आश्वासन दिया है कि दलित क्षेत्र में दो हैंडपंप लगाए जाएंगे, लेकिन इसमें थोड़ा समय लगेगा।

TOPPOPULARRECENT