Tuesday , October 17 2017
Home / Hyderabad News / दलीत क़तल आम वाकीया की तहकीक़ात का मुतालेबा

दलीत क़तल आम वाकीया की तहकीक़ात का मुतालेबा

उस्मानीया और हैदराबाद सैंटर्ल यूनीवसीटीज़ के प्रोफेसर्स के एक ग्रुप ने रीयास्ती हुकूमत से मुतालेबा

उस्मानीया और हैदराबाद सैंटर्ल यूनीवसीटीज़ के प्रोफेसर्स के एक ग्रुप ने रीयास्ती हुकूमत से मुतालेबा
कीया है के लक्ष्मी पेट , सुरेका कोलम में पाँच दलीतों के क़तल-ए‍आम वाकीया की एक रुकनी जज के ज़रीया तहक़ीक़ात की हीदायत दी जाय ता के तमाम ख़ातीयों को कैफ़ कीरर्दार तक पहुंचाया जा सके ।

यहां मीडीया नुमाइंदों से बात करते हुए उस्मानीया यूनीवर्सीर्टी के प्रोफ़ैसर के सरीनवा सल्लू ने कहा के दोनों यूनीवरसीटीज़ के असातीज़ा (टीचेर )की एक टीम /8 और /9 सितंबर को लक्ष्मी पेट का दौरा किया है जहां पाँच दलीतों को /12 जून को बेरहमी के साथ हलाक और दीगर कई को ज़ख़मी करदीया गया है ।

उन्हों ने बताया के इस क़तल आम वाकीया के तीन माह बाद भी यहां दलीत तबक़ा ख़ौफ़ हर्रा सानी के आलम में जीदगी गुज़ार रहा है और वो मज़ीद(ज़ियद‌) हमलों से ख़ौफ़ज़दा हैं । प्रोफ़ैसर अरूण के पटनाइक ने कहा के क़तल आम के वाकीया के सबूत शहादत मौजूद हैं ।

डाक्टर के वाई रत्नम ने कहा के हक़ायक़ का पता लगाने वाली कमेटी ने इस बात पर हैरत का इज़हार कीया के लक्ष्मी पेट का वाकीया उस वक़्त अंजाम दीया गया है जबके सी आई ए , एस पी , डी एस पी , ऐम आर ओ , ऐम एलए का ताल्लुक़ दलीत तबक़ा से है । प्रोफ़ैसर लकशमा ना रावना ने 250 अकऱ् ज़रई ज़मीन को दलीत तबक़ा में तक़सीम करने का मुतालेबा कीया

TOPPOPULARRECENT