Saturday , August 19 2017
Home / India / दस रुपए में रेल मुसाफिरों को दस लाख का इजाफी इंस्यूरेंस !

दस रुपए में रेल मुसाफिरों को दस लाख का इजाफी इंस्यूरेंस !

हवाई मुसाफिरों की तरह रेलवे ने अपने मुसाफिरों के लिए अतिरिक्त बीमा योजना का लाभ दिए जाने के लिए कदम बढ़ा दिए हैं. रेलवे ने अपने मुसाफिरों को अतिरिक्त बीमा योजना के सभी नियमों को तय कर दिया है. रेल मुसाफिरों को दस लाख रुपए का अतिरिक्त बीमा की सहूलत लेने के लिए महज दस से बीस रुपए के प्रीमियम रकम की अदायगी करना होगा. यह मनसुबा अगस्त माह से अमल में आ जाएगी. फिलहाल यह सहुलत ई-टिकट के मुसाफिरों को मिलेगी. पायलट प्रोजेक्ट के पूरा होने के एक साल बाद यह सुविधा काउंटर से रिजर्वेशन टिकट बुक कराने वाले मुसाफिरों को भी मिलेगी. अभी तक रेलवे अपने सुरक्षा नियमों के तहत दुर्घटना में निधन पर चार लाख रुपए का तक बीमा लाभ देती है. यह अतिरिक्त बीमा होगा और इसके लिए ई-टिकट बुकिंग करने के दौरान यात्रियों को बीमा विकल्प को चुनना होगा.
गौरतलब है कि अभी रेलवे की ओर से दुर्घटना बीमा योजना के तहत किसी प्रकार की रेल दुर्घटना की स्थिति में चार लाख रुपए की राशि मृतक के आश्रितों को दी जाती है. इसी प्रकार स्थायी रूप से अक्षम हुए यात्रियों और दुर्घटना में घायल हुए लोगों को भी सहायता राशि दिए जाने का प्रावधान किया गया है. इसके अलावा रेलमंत्री भी कभी-कभी राहत राशि की घोषणा करते हैं जो उपरोक्त राशि के अतिरिक्त यात्री अथवा उसके आश्रितों को देय होती है. इसके अलावा अब रेलवे अतिरिक्त बीमा की योजना लेकर आ रही है. इसमें दस लाख रुपए तक बीमा योजना का लाभ मिल सकता है. अगस्त से रेलयात्रियों को बीमा का एक विकल्प रेलवे उपलब्ध कराने जा रहा है. मात्र 10 से 20 रुपए की प्रीमियम राशि के द्वारा रेल यात्री को 10 लाख रु पए का बीमा कवर दिया जा रहा है.
सूत्रों के अनुसार नई बीमा योजना के तहत अगर कोई व्यक्ति प्रीमियम अदा कर बीमा कवर के विकल्प को अपनाता है तो दुर्घटना की स्थिति में मृतक के आश्रितों को दस लाख, स्थायी रूप से दिव्यांग हुए यात्रियों को 7.5 लाख रुपए तथा घायलों को पांच लाख रुपए तक का बीमा कवर दिये जाने का प्रावधान किया जा रहा है. इस योजना को रेल मंत्रालय के उपक्रम आईआरसीटीसी द्वारा लागू किया जा रहा है. बीमा कवर उपलब्ध कराने के लिए टेंडर आमंत्रित किया गया है. उम्मीद है कि दो दर्जन से अधिक बीमा कंपनियां इसमें भाग लेंगी. लेकिन इनमें से केवल तीन कंपनियों को फाइनल किया जाएगा.
यह तीनों वह कंपनियां होंगी जिनका प्रीमियम सबसे कम होगा. इन तीनों कंपनियों को समान रूप से बीमा अधिकार दिया जाएगा. ई-टिकट खरीदते समय बीमा कवर का विकल्प चुनने वाले यात्रियों को राउंड रोबिन के आधार पर कंपनियां बीमा करेंगी. यानी कि पहले यात्री का बीमा पहली कंपनी करेगी, दूसरे यात्री का बीमा दूसरी बीमा कंपनी करेगी तथा तीसरे यात्री का बीमा तीसरी कंपनी करेगी. उसके बाद फिर चौथे यात्री का बीमा फिर से से पहली कंपनी करेगी. यह क्रम समान रूप से चलता रहेगा. सबसे खास बात यह कि यदि रेल दुर्घटना में किसी यात्री की मृत्यु हो जाती है कि उसके आश्रित को तत्काल दस हजार रुपए का भुगतान बीमा कंपनी करेगी ताकि उस दौरान की तात्कालिक जरूरतें पूरी हो सकें.

TOPPOPULARRECENT