Tuesday , October 17 2017
Home / Uttar Pradesh / दहशतगर्द के गांव में चप्पे-चप्पे की ली गई तलाशी, कुंआ तक खाली कराया

दहशतगर्द के गांव में चप्पे-चप्पे की ली गई तलाशी, कुंआ तक खाली कराया

एनआईए की टीम बुध को सीठियो गांव पहुंची। इससे पहले गांव के नजदीक रिंग रोड पहुंची। कई जगह की तलाशी के बावजूद एनआईए को कुछ नहीं मिला। टीम के साथ गिरफ्तार मुश्तबा दहशतगर्द इम्तियाज के बड़े भाई अख्तर अंसारी भी थे। टीम ने सीठियो वाकेय त

एनआईए की टीम बुध को सीठियो गांव पहुंची। इससे पहले गांव के नजदीक रिंग रोड पहुंची। कई जगह की तलाशी के बावजूद एनआईए को कुछ नहीं मिला। टीम के साथ गिरफ्तार मुश्तबा दहशतगर्द इम्तियाज के बड़े भाई अख्तर अंसारी भी थे। टीम ने सीठियो वाकेय तालाब में तीन लोगों को उतारा। अख्तर को भी तालाब में भेजा गया। करीब डेढ़ घंटे की कोशिश के बाद तालाब से लोहे का एक साकेट मिला, जिसे जब्त कर लिया गया। इमकान जताई गई है कि साकेट का इस्तेमाल बम बनाने में किया जाता होगा। तालाब से कुछ दूरी पर एक कुआं है। पहले कुएं झंगर डाला गया। कुछ नहीं निकला। इसके बाद कुएं का पानी मोटर के सहारे खाली किया गया।

इसके बावजूद कुएं में कुछ नहीं मिला। टीम के साथ जिला पुलिस के जवान भी थे। मौके पर एफएसएल की टीम को भी बुलाया गया था। अख्तर को एनआईए गवाह बनाने के मूड में है।

अख्तर को लेकर गांव में तरह-तरह की बातें की जा रही थीं। तब एनआईए ने खुलासा किया कि अख्तर को गिरफ्तार नहीं किया गया है। उसे गवाह बनाया जाएगा। अख्तर ने एनआईए को बताया था कि कुछ सामान कुएं और तालाब में फेंका गया है। इसके बाद ही तालाब और कुएं को खंगाला गया। दिन के दो बजे से साढ़े पांच बजे तक एनआईए की टीम सीठियो में ही रही।

डेली मार्केट के दो दुकानदारों से हुई पूछताछ

एनआईए की टीम ने बुध को डेली मार्केट के दो दुकानदारों से पूछताछ की। एक दिन पहले तीन दुकानदारों को बुलाया गया था। इन दुकानदारों की इलेक्ट्रॉनिक्स की दुकान है। गिरफ्तार मुश्तबा दहशतगर्द इश्तेखार और फिरोज असलम ने एनआईए को जानकारी दी थी कि रांची में ही टाइमर बम बनाया जाता था और इसका ट्रायल सीठियो गांव के पास एक पहाड़ में किया जाता था। बम बनाने का सामान रांची में एक हार्ड वेयर दुकान समेत इलेक्ट्रॅनिक्स दुकानों से खरीदा जाता था। दुकानदारों को इस हिदायत पर छोड़ा गया कि उन्हें जब बुलाया जाएगा, वह हाजिर हो जाएंगे।

अख्तर अंसारी ने एनआईए की टीम को बताया था कुछ सामान कुएं और तालाब में फेंका गया है। इसके बाद टीम ने तालाब में मुश्तबा आलात की खोज में कई लोगों को लगाया।

TOPPOPULARRECENT