Tuesday , October 17 2017
Home / India / दहश्तगर्दी का सिंडीकेट ख़तम् करने मुत्तहदा इक़दाम ज़रूरी : हिंदूस्तान

दहश्तगर्दी का सिंडीकेट ख़तम् करने मुत्तहदा इक़दाम ज़रूरी : हिंदूस्तान

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा २३ नवंबर ( पी टी आई ) हिंदूस्तान ने आज कहा कि दहश्तगर्दी के सिंडीकेट की बेख़कुनी के लिए ताक़तवर सयासी अज़म की और मुत्तहदा कार्रवाई की ज़रूरत है जो अफ़्ग़ानिस्तान की सरहदों के अंदर और बाहर से की जायॆ ।

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा २३ नवंबर ( पी टी आई ) हिंदूस्तान ने आज कहा कि दहश्तगर्दी के सिंडीकेट की बेख़कुनी के लिए ताक़तवर सयासी अज़म की और मुत्तहदा कार्रवाई की ज़रूरत है जो अफ़्ग़ानिस्तान की सरहदों के अंदर और बाहर से की जायॆ ।

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा की जनरल असॆम्बली में अफ़्ग़ानिस्तान की सूरत-ए-हाल पर ब्यान देते हुए हिंदूस्तान के मुस्तक़िल नुमाइंदे बराए अक़वाम-ए-मुत्तहिदा हरदीप सिंह पूरी ने कहा कि अलक़ायदा , तालिबान और लश्कर-ए-तुयेबा जैसे दहश्तगर्द ग्रुपस अफ़्ग़ानिस्तान की सरहदों के अंदर और बाहर से सरगर्म हैं और नज़रियाती एतबार से कार्यवाहीयां कररहे हैं । उन की बुनियादें साल बह साल मुस्तहकम होती जा रही हैं ।

हिंदूस्तान को इस बारे में संगीन अंदेशे हैं । उन्हों ने कहा कि दहश्तगरदों का तशद्दुद , अफ़्ग़ानिस्तान के साबिक़ सदर बुरहान उद्दीन का क़तल और अफ़्ग़ानिस्तान के सीनियर क़ाइदीन बिशमोल हामिद करज़ई के भाई अहमद वली करज़ई का क़तल उस की नुमायां मिसालें हैं ।

उन्होंने कहा कि हमें मुत्तहदा कोशिश करते हुए दहश्तगर्दी के सिंडीकेट की बेख़कुनी करनी चाहीए और उसे अलग थलग कर देना चाहीए । हमारा पुख़्ता अज़म और सयासी इरादा ही पूरी सख़्ती के साथ दहश्तगर्द ग्रुप्स् के अफ़्ग़ानिस्तान की सरहद के बाहर महफ़ूज़ पनाह गाहों का सफ़ाया कर सकता है ।

193 रुकनी जनरल असैंबली ने मुत्तफ़िक़ा तौर पर एक क़रारदाद मंज़ूर की जिस के सरपरस्तों में हिंदूस्तान भी शामिल है जिस का कहना है कि सयानत , इंसाफ़ , हुक्मरानी , समाजी-ओ-मआशी तरक़्क़ी , समझौता और यकजहती , इलाक़ाई तआवुन और दिफ़ाई शराकतदारी बराए अफ़्ग़ानिस्तान ही दहश्तगर्दी सिंडीकेट का ख़ातमा कर सकती है ।

TOPPOPULARRECENT