Friday , October 20 2017
Home / World / दहश्तगर्द सिंडीकेट के ख़िलाफ़ ठोस आलमी कार्रवाई ज़रूरी

दहश्तगर्द सिंडीकेट के ख़िलाफ़ ठोस आलमी कार्रवाई ज़रूरी

हिंदूस्तान ने अफ़्ग़ान ख़ित्ता के दहश्तगर्द इनफ़रास्ट्रक्चर की बदस्तूर मौजूदगी को तशवीशनाक क़रार दिया है , जिसे उस की सरहदों के आगे से मदद हासिल होरही है , और ज़ोर दिया कि अलक़ायदा , तालिबान और लश्कर तैबा की सिंडीकेट को यक्का-ओ-तन

हिंदूस्तान ने अफ़्ग़ान ख़ित्ता के दहश्तगर्द इनफ़रास्ट्रक्चर की बदस्तूर मौजूदगी को तशवीशनाक क़रार दिया है , जिसे उस की सरहदों के आगे से मदद हासिल होरही है , और ज़ोर दिया कि अलक़ायदा , तालिबान और लश्कर तैबा की सिंडीकेट को यक्का-ओ-तन्हा करने और जड़ से उखाड़ फेंकने के लिए ठोस आलमी कार्रवाई की ज़रूरत है ।

हिंदूस्तान के नायब मुस्तक़िल क़ासिद बराए अक़वाम-ए-मुत्तहिदा सफ़ीर मंजिवो सिंह पूरी ने कहा कि अफ़्ग़ानिस्तान को बदस्तूर दहश्तगर्दी के ख़तरा का सामना है जिस को सरहद पार से नज़रयाती , मालीयाती और साज़ो सामान की मदद हासिल होरही है ।

ये निशानदेही करते हुए कि अफ़्ग़ान नेशनल सिक्योरिटी फोर्सेस दहश्तगर्दी के चैलेंज से निमटने के लिए अच्छी तरह लैस नहीं है , पूरी ने कहा कि हमें दहश्तगर्दी की सिंडीकेट का सफ़ाया करने के लिए ठोस कार्रवाई दरकार है ।

उन्हों ने कहा कि इस सिंडीकेट में अलक़ायदा , तालिबान , लश्कर तैबा और दीगर दहश्तगर्द और इंतहापसंद ग्रुप शामिल हैं।

TOPPOPULARRECENT