Tuesday , October 24 2017
Home / Islami Duniya / दाइश ने मर्दों को ग़ुलाम और औरतों को बांदी बना दिया

दाइश ने मर्दों को ग़ुलाम और औरतों को बांदी बना दिया

शुमाली इराक़ में सन्जार के इलाक़े में दौलते इस्लामी दाइश के जंगजूओं के हमलों के नतीजे में सब से ज़्यादा वहां के यज़ीदी क़बीले के लोग मुतास्सिर हुए क्योंकि दाइश के जंगजूओं ने यज़ीदी क़बीले के मर्दों को ग़ुलाम और औरतों को बांदी बना कर सर

शुमाली इराक़ में सन्जार के इलाक़े में दौलते इस्लामी दाइश के जंगजूओं के हमलों के नतीजे में सब से ज़्यादा वहां के यज़ीदी क़बीले के लोग मुतास्सिर हुए क्योंकि दाइश के जंगजूओं ने यज़ीदी क़बीले के मर्दों को ग़ुलाम और औरतों को बांदी बना कर सरे आम नीलाम किया।

उन का वहशयाना क़त्ले आम किया गया और उन पर मज़ालिम की इंतिहा कर दी गई। दाइश के ज़ुल्म की शिकार एक यज़ीदी ख़ातून ने अरबी टेलीविज़न चैनल अल अर्बिया की नामा निगार रीमा मकतबी को अपनी बिप्ता सुनाई।

19 साला यज़ीदी ख़ातून ने बताया कि दाइश के जंगजूओं ने इस के शौहर को इस के सामने गोलीयां मार कर हलाक किया और उसे बांदी बना कर साथ ले गए। बादअज़ां उसे एक ज़ेरे तामीर मकान में रखा गया जहां पाँच दूसरे यज़ीदी क़बीले के लोग भी यरग़माल बना कर रखे गए थे।

वो एक ऐसी जगह थी जहां ज़िंदगी की कोई सहूलत नहीं थी। यज़ीदी ख़ातून ने बताया कि इस ने 21 दिन दाइश की हिरासत में गुज़ारे जिस के बाद वो वहां से फ़रार होने में कामयाब हो गई।

अगर मेरे पास कोई हथियार होता तो मैं दाइश के दहश्तगर्दों के ख़िलाफ़ भरपूर जंग करती। अब भी अगर मुझे मौक़ा मिला तो में दाइश के दहश्तगर्दों के ख़िलाफ़ लड़ाई में ख़ुद भी शामिल हो कर लड़ुंगी।

TOPPOPULARRECENT