Thursday , September 21 2017
Home / Featured News / दादरी में अधिकारियों ने ‘हिंदू-मुस्लिम विवाह “रजिस्टर करने से किया इनकार

दादरी में अधिकारियों ने ‘हिंदू-मुस्लिम विवाह “रजिस्टर करने से किया इनकार

Picture Courtesy: IndiaToday

दादरी: भारत में धर्म से बाहर शादी करना सार्वजनिक रूप से वर्जित माना जाता है |

अखलाक़ की हत्या के बाद सांप्रदायिक रूप से बदनाम हुए दादरी शहर में इस घटना के 6 महीने बाद भी अधिकारियों ने हिंदू-मुस्लिम जोड़े की शादी को रजिस्टर करने से मना कर दिया |

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

अधिकारियों ने कथित तौर पर मनजीत भाटी 24, और सलमा 20 की शादी को रजिस्टर करने से ये कहते हुए मना कर दिया कि इससे धार्मिक दंगे होने की आशंका है |
dadri-couple1-e1461245638887

इण्डिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, मंजीत और सलमा, जिसने बाद में हिन्दू धर्म अपनाकर अपना नाम सपना आर्य कर लिया था 19 पिछले साल अक्टूबर में चिठेरा गांव, दादरी से फरार हो गये थे और दोनों ने एक आर्य समाज मंदिर में शादी कर ली थी |

ये दोनों पिछले पांच महीने से सरकारी कार्यालयों और वरिष्ठ जिला अधिकारियों के कार्यालय के चक्कर काट रहे हैं लेकिन इनकी की सुनवाई नहीं हो रही है |

मंजीत ने बताया कि हम जनवरी में रजिस्ट्रार के पास गये लेकिन उन्होंने कहा कि हमारी शादी रजिस्टर नहीं होगी क्यूँकि मैं हिन्दू हूँ और मेरी पत्नी मुसलमान है इससे इलाक़े में अशांति फ़ैल सकती है |मैंने उन्हें आश्वासन भी दिया हमारी शादी से कोई समस्या नहीं होगी और हमारे गाँव काफी शांतिपूर्ण है, लेकिन फिर भी उन्होंने मना कर दिया और हमसे 20, 000 रूपये की मांग भी की|
उत्तर प्रदेश के दादरी में 50 वर्षीय आदमी, मोहम्मद अखलाक, को गोमांस खाने की अफ़वाह के बाद भीड़ ने पीट पीट कर मार डाला था और उसके 22 वर्षीय बेटे को गंभीर रूप से घायल कर दिया था |

TOPPOPULARRECENT