Tuesday , September 26 2017
Home / India / दादरी वाक़िये के असल मुल्ज़िमीन का बीजेपी से ताल्लुक़ मुलायाम सिंह यादव

दादरी वाक़िये के असल मुल्ज़िमीन का बीजेपी से ताल्लुक़ मुलायाम सिंह यादव

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के सरबराह मुलायाम सिंह यादव ने आज कहा कि साल2012 के अषेएम्बली इंटेख़ाबात में पार्टी को वाज़िह अक्सरीयत हासिल होने के बावजूद उन्हें चीफ़ मिनिस्टर के ओहदे की ख़ाहिश नहीं थी क्योंकि वो पार्टी कारकुनों के साथ ज़्यादा से ज़्यादा वक़्त गुज़ारना और हुकूमत की कारकर्दगी पर नज़र रखना चाहते थे।

समाजवादी पार्टी हेडक्वार्टर पर यूथ कनवेनशन को मुख़ातिब करते हुए इन्होंने कहा कि साल2012 में हमारी पार्टी को वाज़िह अक्सरीयत हासिल हुई थी लेकिन मैंने ख़ुद की बजाय अखिलेश यादव को चीफ़ मिनिस्टर बना दिया। उस वक़्त पार्टी क़ाइदीन और कारकुनान मायूस हो गए जिनका कहना है कि इन (मुलाय‌म के नाम पर वोट मांगे गए थे लिहाज़ा वही चीफ़ मिनिस्टर के ओहदे पर फ़ाइज़ हूँ लेकिन मैंने ऐसा करने से गुरेज़ किया ताकि पार्टी कारकुनों के साथ घुल मिल जाऊं और हुकूमत के काम काज पर निगरानी रखी जाये।

समाजवादी पार्टी सरबराह ने ये इद्दिआ किया कि इन्होंने ये तसव्वुर भी नहीं किया था कि हुकूमत इस क़दर बेहतरीन काम करेगी जिसने पार्टी के इंतेख़ाबी पर अमलावरी की कामयाबी हासिल की है। दादरी के दिलख़राश वाक़िया जिसमें एक मुस्लिम शख़्स को बीफ रखने के इल्ज़ाम में हलाक कर दिया गया था तज़किरा करते हुए मुलाय‌म सिंह यादव ने कहा कि एक शख़्स जिसका बेटा फ़ौज में शामिल और सरहदों पर लड़ता हो , मौत के घाट उतार दिया गया।

इस वाक़िये में 3 मुल्ज़िमीन की निशानदेही की गई है जिनका ताल्लुक़ बीजेपी से है। अगर वज़ीर-ए-आज़म उनके नाम मालूम करना चाहते हैं तो वो इन्किशाफ़ कर सकते हैं। वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी को तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए एसपी लीडर ने कहा कि लोक सभा इंतेख़ाबात के दौरान इन्होंने बुलंद बाँग वादे किए थे लेकिन एक भी वादे की तकमील नहीं करसके।

मुलाय‌म सिंह यादव ने कहा कि उन्हों (मोदी ने हिन्दुस्तानी इलाक़े पर चीन के क़बज़े को बर्ख़ास्त कर देने का ऐलान किया था लेकिन जिस वक़्त चीनी वज़ीर-ए-आज़म हिन्दुस्तान के दौरे पर थे उस वक़्त उनकी फ़ौज हमारी सरहद की सिम्त पेशक़दमी कर रही थी। अलावा अज़ीं वज़ीर-ए-आज़म इमतियाज़ात को मिटा देने के वादा की तकमील से भी क़ासिर रहे।

लोक भूषा और लोक भोजन मुक़ामी ज़बान , लिबास और ग़िज़ा इख़तियार करते हुए समाजवादी अंदोलन सोशलिस्ट तहरीक को मज़बूत बनाएँ। यादव ने कहा कि अवाम में अपनी शबिया और शख़्सियत को इस तरीक़े से उभारीं कि वो मक़बूल आम होजाएं। इन्होंने बताया कि सोशलिस्ट लीडर बह यूरी ठाकुर जब देहातों का दौरा करते थे तो ग़रीबों के मकानात में क़ियाम करते लेकिन अब नौजवान क़ाइदीन उनकी तक़लीद करने की बजाय अमीरों और असर-ओ-रसूख़ रखने वालों के बंगलों में क़ियाम को पसंद कर रहे हैं।

इन्होंने कहा कि साल2017 में समाज वाद पार्टी की दुबारा हुकूमत तशकील देने के लिए नौजवानों को अभी से कमरबस्ता होजाना चाहिए चूँकि मौजूदा हुकूमत बेहतर से बेहतर ख़िदमात अंजाम दे रही है । अगर पार्टी दुबारा हुकूमत तशकील देने में नाकाम हो गई तो वो हमेशा के लिए इक़्तेदार से महरूम होजाएंगी। मज़कूरा कनवेनशन में समाजवादी पार्टी के शोबा नौजवानान यूथ विंग के लीडरों ने शिरकत की |

TOPPOPULARRECENT