Friday , October 20 2017
Home / Hyderabad News / दिलसुखनगर धमाके :यसीन भटकल एन आई ए तहवील में

दिलसुखनगर धमाके :यसीन भटकल एन आई ए तहवील में

इंडियन मुजाहिदीन के मुआविन बानी यसीन भटकल को आज मुक़ामी अदालत ने 15 दिन के लिए एन आई ए की तहवील में दे दिया।

इंडियन मुजाहिदीन के मुआविन बानी यसीन भटकल को आज मुक़ामी अदालत ने 15 दिन के लिए एन आई ए की तहवील में दे दिया।

जिसे 21फ़बरोरी को दिलसुखनगर में हुए दो बम धमाकों के मुक़द्दमात के सिलसिले में गिरफ़्तार किया गया है। यसीन भटकल को एन आई ए के ओहदेदारों ने आज फ़रस्ट एडीशनल मेट्रो पोलीटन सेशन जज की अदालत में पेश किया।

इस मौके पर सख़्त सेक्योरिटी इंतेज़ामात किए गए थे। अदालत ने यसीन भटकल को इस से पहले 17 अक्टूबर तक अदालती तहवील में दिया था।

इस के बाद एन आई ए के वकील ने पुलिस तहवील में देने की दरख़ास्त करते हुए कहा कि इन मुक़द्दमात में भटकल की तफ़तीश की ज़रूरत है।

उन्होंने बताया कि दहश्तगर्द कार्यवाईयों के लिए हवाला के ज़रीये मुबयना तौर पर फंड्स की फ़राहमी का भी इस पर इल्ज़ाम है। इस के अलावा हवाला रियाकट के दुसरे अरकान की शनाख़्त भी ज़रूरी है और ये तफ़तीश के ज़रीये ही मुम्किन है।

इस्तिग़ासा और दिफ़ा की बेहस-ओ-जवाबी बेहस की समाअत के बाद अदालत ने एन आई ए की दरख़ास्त कुबूल करलिया और भटकल को कल से 8 अक्टूबर तक तहवील में देने की हिदायत दी।

एन आई ए ने अपनी दरख़ास्त में कहा कि दिल्ली के एक मुक़द्दमा में तफ़तीश के दौरान भटकल के मुबयना तौर पर क़रीबी साथी असद उल्लाह अख़तर उर्फ़ तब्रेज़ ने विक़ास नामी एक शख़्स के साथ मिलकर भटकल की हिदायत पर हैदराबाद में बम धमाकों में मुलव्वस होने का ज़िक्र किया है।

अदालत में पेश किए जाने के बाद जज ने यसीन भटकल से इस का नाम पूछा और ये जानना चाहा कि वो किस मुक़ाम से ताल्लुक़ रखता है।

मुल्ज़िम ने जवाब दिया कि इस का नाम यसीन भटकल है और वो कर्नाटक में भटकल का मुतवत्तिन है। जज ने फिर ये पूछा कि क्या पुलिस इस के साथ अच्छा सुलूक कररही है जिस पर इस ने इस्बात में जवाब दिया।

इस के बाद भटकल को दो बम धमाकों के सिलसिले में दर्ज रजिस्टर दो मुक़द्दमात से मुताल्लिक़ रीमांड रिपोर्ट और दुसरे ज़रूरी दस्तावेज़ात की नक़ल हवाले की गई।

दिलसुखनगर में जारीये साल 21फ़बरोरी को कोणार्क और वेंकटादरी थियटर के क़रीब पुरहजूम मुक़ाम पर ताक़तवर आई ई डी धमाके हुए थे जिस में 17 अफ़राद हलाक और 100 ज़ख़मी होगए थे।

आंध्र प्रदेश पुलिस की इबतिदाई तहक़ीक़ात के बाद ये मुक़द्दमा एन आई ए के हवाले किया गया था। भटकल और असद अल्लाह पर शुबा है कि उन्होंने मुल्क भर में कई मुक़ामात पर बम धमाके किए हैं उन्हें सेक्यूरिटी एजेंसीयों ने हिंद।नेपाल सरहद पर गिरफ़्तार किया था।

TOPPOPULARRECENT