Saturday , October 21 2017
Home / India / दिल्ली इस्मत रेज़ि वाक़िया पर आजलाना कार्रवाई

दिल्ली इस्मत रेज़ि वाक़िया पर आजलाना कार्रवाई

नई दिल्ली, 28 दिसंबर: (पी टी आई) जिन्सी हरासानी के मुआमलात से निमटने वाले क़वानीन पर नज़रेसानी और मूसिर इक़दामात का इन्किशाफ़ करने के दूसरे दिन वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह ने कहा कि दिल्ली इजतिमाई इस्मत रेज़ि वाक़िया में मुजरिमीन के साथ सख़्त

नई दिल्ली, 28 दिसंबर: (पी टी आई) जिन्सी हरासानी के मुआमलात से निमटने वाले क़वानीन पर नज़रेसानी और मूसिर इक़दामात का इन्किशाफ़ करने के दूसरे दिन वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह ने कहा कि दिल्ली इजतिमाई इस्मत रेज़ि वाक़िया में मुजरिमीन के साथ सख़्ती से निमटा जाएगा और क़ानूनी कार्रवाई जल्द अज़ जल्द की जाएगी।

वज़ीर-ए-आज़म ने 57 वीं क़ौमी तरक़्क़ीयाती कौंसल इजलास से ख़िताब करते हुए तमाम चीफ़ मिनिस्टर्स से ख़ाहिश की कि वो ख़वातीन की सलामती जैसे हस्सास मौज़ू पर ख़ुसूसी तवज्जा दे।

उन्होंने 16 दिसंबर को दिल्ली में मेडीकल तालिबा की इजतिमाई इस्मत रेज़ि वाक़िया पर कहा कि इस मख़सूस मुआमले में मुजरिमीन को हिरासत में लिया जा चुका है और क़ानूनी कार्रवाई आजलाना तौर पर की जाएगी। उन्होंने वाज़िह तौर पर कहा कि ख़वातीन की सलामती और उनका तहफ़्फ़ुज़ हुकूमत की अव्वलीन तर्जीह है।

एक तहक़ीक़ाती कमीशन भी क़ायम किया जा रहा है जो दार-उल-हकूमत में इस तरह के मसाइल का जायज़ा लेगा। वज़ीर-ए-आज़म ने कहा कि मुल्क की निस्फ़ आबादी की सरगर्म शराकत के बगै़र बामक़सद तरक़्क़ी नहीं हो सकती और जब तक उन्हें मूसिर तहफ़्फ़ुज़ फ़राहम ना किया जाये, आबादी का ये हिस्सा तरक़्क़ी में शराकत कार नहीं बन सकता।

उन्होंने कहा कि जिन्सी अदम मुसावात पर ख़ुसूसी तवज्जा की ज़रूरत है। ख़वातीन और लड़कीयों की आबादी हमारे समाज का निस्फ़ हिस्सा है और उनके साथ पूरा इंसाफ़ होना चाहीए। मनमोहन सिंह ने कहा कि ख़वातीन का समाजी-ओ-मआशी मौक़िफ़ बेहतर हो रहा है लेकिन चंद खामियां अब भी मौजूद हैं।

TOPPOPULARRECENT