Sunday , October 22 2017
Home / Bihar News / दिल्ली के बाद पटना में भी सख्ती, 15 साल से अधिक पुरानी गाडि़यों पर रोक

दिल्ली के बाद पटना में भी सख्ती, 15 साल से अधिक पुरानी गाडि़यों पर रोक

पटना :पंद्रह साल से अधिक पुराने डीजल वाहनों को पटना में प्रतिबंधित किया जाएगा। राजधानी में बढ़ते ध्वनि व वायु प्रदूषण को रोकने के लिए प्लास्टिक व अन्य ठोस कचरा जलाने पर प्रतिबंध लगाया जाएगा। सभी निर्माण कार्य को ढंककर रखना होगा। बालू गिराने वाले ट्रक व ट्रैक्टर को ढंककर ही शहर में प्रवेश करना होगा। ध्वनि प्रदूषण रोकने के लिए गाड़ी मालिकों व चालकों के बीच व्यापक जागरूकता अभियान चलेगा।

पर्यावरण एवं वन विभाग की समीक्षा के क्रम में मुख्यमंत्री ने ध्वनि व वायु प्रदूषण पर चिंता जताई। कहा कि प्रदूषण रोकने के लिए गंगा नदी के किनारे सभी ईंट-भट्ठों द्वारा नियमों की अवहेलना पर प्रदूषण नियंत्रण पर्षद कार्रवाई करे। अनुमंडल पदाधिकारी को ध्वनि प्रदूषण रोकने व रीजनल पदाधिकारी के तौर पर वन विभाग के क्षेत्रीय पदाधिकारियों को अधिकृत करने पर काम हो। पौधारोपण में बरगद, पीपल, पाकड़ के साथ ही फलदार पौधों में जामुन, आम, बेर लगाए जाएं। बंदरों का प्रकोप कम करने की कार्रवाई हो। हाथी पुनर्वास केंद्र की स्थापना में ऐसे लोगों को रखा जाए जो प्रशिक्षित हों।

पटना विवि की जमीन पर अगर राष्ट्रीय डॉल्फिन केंद्र बनाने में परेशानी हो तो भागलपुर व सुल्तानगंज के बीच इसे स्थापित किया जाए। बैठक में वन मंत्री तेज प्रताप यादव, मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह, विकास आयुक्त शिशिर सिन्हा, वन के प्रधान सचिव विवेक कुमार सिंह सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

कृषि वानिकी की प्रोत्साहन राशि बढ़ेगी : सीएम ने कृषि वानिकी योजना में किसानों को दिए जाने वाले प्रोत्साहन राशि को बढ़ाने का निर्देश दिया। इसके तहत पहले साल 10 रुपए, दूसरे साल 10 रुपए व तीसरे साल 15 रुपए करने को कहा। पोपुलर के लग रहे पौधों को बाजार उपलब्ध कराने के लिए हाजीपुर बाजार समिति की जमीन पर मंडी बनाने को कहा। साथ ही कृषि विज्ञान केंद्र में वनकर्मियों व किसानों को प्रशिक्षण देने की व्यवस्था करने का निर्देश भी दिया।

TOPPOPULARRECENT