Thursday , October 19 2017
Home / Khaas Khabar / दीमापुर केस: बलात्कार नहीं बल्कि रजामंदी से बने थे जिस्मानी ताल्लुकात

दीमापुर केस: बलात्कार नहीं बल्कि रजामंदी से बने थे जिस्मानी ताल्लुकात

नागालैंड दीमापुर में हुए रेप केस में रियासत की हुकूमत ने वज़ारत ए दाखिला को जो रिपोर्ट भेजी है उसमें चौंकाने वाला खुलासा सामने आया है.

नागालैंड दीमापुर में हुए रेप केस में रियासत की हुकूमत ने वज़ारत ए दाखिला को जो रिपोर्ट भेजी है उसमें चौंकाने वाला खुलासा सामने आया है. खबर के मुताबिक फौतशुदा शख्स ने लड़की के साथ बलात्‍कार नहीं किया था बल्कि दोनों की रजामंदी से यह ताल्लुक बने थे

नगालैंड की हुकूमत ने आज मरकज़ को बताया कि सैयद शरीफ खान, जिसे दीमापुर में गुजश्ता हफ्ते भीड़ ने पीट पीटकर मार डाला था ,उसने उस लड़की के साथ रेप नहीं किया था, जिसने उसपर रेप का इल्ज़ाम लगाया है, बल्कि दोनों के बीच रजामंदी से जिस्मानी ताल्लुक बने थे.

वज़ारत ए दाखिला को भेजी एक रिपोर्ट में रियासत की हुकूमत ने कहा कि 24 फरवरी को खान ने अपनी गिरफ्तारी के बाद पुलिस को जो बयान दिया था उसमें उसने कहा था कि उसने लड़की के साथ दो बार जिस्मानी ताल्लुकात बनाए और उसे पांच हजार रूपए दिए. रिपोर्ट के मुताबिक, खान ने पुलिस को यह भी बताया कि लड़की अपनी मर्जी से उसके साथ गई थी और सेक्स करने के बाद वह उससे और पैसा मांग रही थी, जो उसने देने से मना कर दिया था.

वजारत ए दाखिला के एक आफीसर ने नगालैंड हुकूमत की रिपोर्ट के हवाले से बताया, ‘खान के कुबूलनामे की बुनियाद पर ऐसा लगता है कि यह बलात्कार नहीं बल्कि रजामंदी से बनाए गए जिंसी ताल्लुकात थे.’ 25 फरवरी को अपनी गिरफ्तारी के बाद से खान दीमापुर के सेंट्रल जेल में था. 5 मार्च को गुस्साई भीड़ ने जेल में घुसकर उसे बाहर खींच लिया और उसके कपड़े फाड़ डाले. उसपर पत्थर फेंके और उसे मारते पीटते सात किलोमीटर तक घसीटते हुए दीमापुर के बीचों बीच ले आए. खान की इस दौरान मौत हो गई. भीड़ ने उसकी लाश को एक घंटाघर पर लटका दिया. नगालैंड हुकूमत ने बताया कि इस मामले में जांच अभी चल रही है और तिब्बी जांच और फोरेंसिक के सुबूत की बुनियाद पर मामले को आगे बढ़ाया जा सकता है.

खान और मुबय्यना रेप की मुतास्सिरा तिब्बी जांच वाकिया की रिपोर्ट दर्ज किए जाने के बाद कराई गई थी. रेप की मुतास्सिरा और खान से इकट्ठा किए गए फोरेंसिक नमूनों को माहिरीन के राय के लिए गुवाहाटी की सेंट्रल फोरेंसिक साइंस लाइब्रेरी भेजा गया है. पुलिस ने होटल दी ओरिएंटल ड्रीम में भी तफ्तीश की है (जहां खान मुबय्यना तौर पर उस लड़की को लेकर गया था) और जरूरी दस्तावेज के साथ सीसीटीवी फुटेज भी लिए गए हैं. आफीसर ने रिपोर्ट के हवाले से यह जानकारी दी.

इससे पहले की एक खबर में कहा गया था कि एक मुकामी नगा नौजवान ने मुबय्यना तौर पर इस वाकिया के दौरान खान की मदद की थी . उसे भी गिरफ्तार करके खान के साथ ही दीमापुर सेंट्रल जेल भेज दिया गया था.

फौतशुदा शख्‍स ने मरने से पहले इस बारे में बताया था लेकिन पुलिस इस मामले की गहराई तक जाती उससे गुस्साए करीब चार हजार लोगों ने सेंटर्ल जेल में बंद रेप के एक मुल्ज़िम को जबरन जेल से घसीटते हुए बाहर निकाल लिया और उसे न्यूड कर करीब सात किलोमीटर पैदल सड़कों पर घसीटा. घसीटते वक्त उसे खूब मारा भी गया, जिससे उसकी मौत हो गई.

भीड़ ने मुल्ज़िम की मौत के बाद उसे चौराहे पर टांग दिया था. खान पर एक कॉलेज स्टूडेंट से एक बार जंगल में और दूसरी बार होटल ले जाकर रेप करने का इल्ज़ाम था. हालांकि, सीसीटीवी फुटेज के मुताबिक लड़की मुल्ज़िम के साथ होटल में आती और जाती दिखी है, जिसने इस केस में सवालिया निशान लगा दिया है.

इसके बाद गुवहाटी हाई कोर्ट ने रियासत और मरकज़ी हुकूमत को दो हफ्ते के इस मामले में रिपोर्ट पेश करने को कहा था. जिसके बाद यह खुलासा सामने आया है.

TOPPOPULARRECENT