Sunday , September 24 2017
Home / World / दुआ की बजाय अमन के लिए ख़ुद कोशिश करें – दलाईलामा

दुआ की बजाय अमन के लिए ख़ुद कोशिश करें – दलाईलामा

पैरिस में होने वाले हौलनाक दहशत गर्दाना हमलों के तनाज़ुर में तिब्बतियों के रुहानी पेशवा दलाईलामा ने कहा है कि लोगों को ख़ुदा से ये तवक़्क़ो नहीं करनी चाहिए कि वो इन्सानों के पैदा कर्दा मसाइल हल करेगा। उनका कहना है कि इन्सानी इक़दार के फ़रोग़ के लिए इक़दामात करना होंगे।

दलाईलामा को तिब्बत की आज़ादी के लिए कई दहाईयों से जारी तहरीक और इन्सान दोस्त इक़दामात की वजह से जाना जाता है और उन्हें 1989 में अमन का नोबल इनाम भी दिया गया था।

दलाईलामा 1959 में ख़ुद साख़्ता जिला वतनी अख़तियार करते हुए भारत आ गए थे और इस वक़्त से भारतीय रियासत हिमाचल प्रदेश के शहर धर्मशाला में मुक़ीम हैं। डोइचे वेले के साथ एक ख़ुसूसी इंटरव्यू में 80 साला दलाईलामा ने पैरिस हमलों के बारे में पूछे गए सवाल के जवाब में कहा- बीसवीं सदी तशद्दुद आमेज़ थी और जंगों और तनाज़आत के बाइस इस सदी के दौरान 200 मिलियन से ज़ाइद अफ़राद हलाक हुए।

TOPPOPULARRECENT