Saturday , October 21 2017
Home / World / दुनियां को शहाब साक़िब से बचाने मंसूबा

दुनियां को शहाब साक़िब से बचाने मंसूबा

शिद्दत से निगरानी करने वाले निज़ाम और एक आफ़त समावी अंदाज़ के प्रोटोकोल की ज़रूरत है ताकि दुनियां को शहाब साक़िब की मुमकाना आफ़त से बचाया जा सके जो अंदेशा है कि 2029 में दुनियां से टकराईंगे ।अदाकार ब्रूस वलीस और उन के साथी अदाकारों

शिद्दत से निगरानी करने वाले निज़ाम और एक आफ़त समावी अंदाज़ के प्रोटोकोल की ज़रूरत है ताकि दुनियां को शहाब साक़िब की मुमकाना आफ़त से बचाया जा सके जो अंदेशा है कि 2029 में दुनियां से टकराईंगे ।अदाकार ब्रूस वलीस और उन के साथी अदाकारों ने कहा कि एक बहुत बड़ा हिज्र शिहाबी 18 दिन में दुनियां से टकराने का अंदेशा है और अंदेशा है कि दुनियां से हयात का सफ़ाया होजाएगा ।आख़िरी बार इस जसामत का हिज्र शिहाबी 1908 में रूसी जंगलाती इलाक़ा में दुनियां से टकराया था ।

TOPPOPULARRECENT