Wednesday , October 18 2017
Home / International / दुनिया की 80 फीसदी महिला सासंद यौन शोषण और हिंसा की शिकार- IPU रिपोर्ट

दुनिया की 80 फीसदी महिला सासंद यौन शोषण और हिंसा की शिकार- IPU रिपोर्ट

दुनिया भर के संसदों में भी महिलाओं को दुर्व्यवहार, यौन शोषण और हिंसा से गुजरना पड़ता है। संसदों के अंतरराष्ट्रीय संगठन ने एक अध्ययन के बाद यह बात कही है। इंटर पार्लियामेंट्री यूनियन (आईपीयू) ने एक रिपोर्ट जारी की है। हर साल जारी होने वाली इस रिपोर्ट में महिला सांसदों के साथ होने वाले व्यवहार का अध्ययन किया गया। हालांकि इस अध्ययन में सिर्फ 55 महिला सांसदों ने हिस्सा लिया है। लेकिन जेनेवा से जारी इस रिपोर्ट के लिए अध्ययन में पूरी दुनिया की संसदों में मौजूद महिला सदस्यों से बात की गई है। अध्ययन में शामिल महिला सांसदों में से 80 फीसदी ने कहा कि उन्हें किसी न किसी तरह की मानसिक या शारीरिक हिंसा से गुजरना पड़ा है. इनमें बलात्कार की धमकियां तक शामिल हैं।

आईपीयू की रिपोर्ट ऐसे समय में आई है जब अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव होने वाला है और एक महिला उम्मीदवार का मुकाबला एक ऐसे पुरुष उम्मीदवार से है जो महिलाओं के प्रति अपनी भद्दी टिप्पणियों के कारण विवादों में है। इन चुनावों में अगर हिलेरी क्लिंटन जीतती हैं तो वह दुनिया के सबसे पुराने लोकतंत्र की पहली महिला राष्ट्राध्यक्ष होंगी। और उनके विरोधी डॉनल्ड ट्रंप पर काफी महिलाओं ने यौन शोषण के आरोप लगा दिए हैं जो रोज सुर्खियों में हैं।

रिपोर्ट कहती है कि महिला सांसदों को अहम पदों पर होने के बावजूद हिंसा का सामना करना पड़ता है। यूरोप की एक महिला सांसद ने बताया कि उन्हें ट्विटर पर सिर्फ चार दिन में बलात्कार की 500 से ज्यादा धमकियां मिलीं। एशिया की एक सांसद ने बताया कि उन्हें उनके बेटे को नुकसान पहुंचाने की धमकी मिली। इस धमकी में बेटे की उम्र और स्कूल की जानकारी तक दी गई थी। सर्वे में हिस्सा लेने वालीं 65.5 फीसदी सांसदों ने कहा कि उन्हें अपमानजनक भाषा और तस्वीरों का सामना करना पड़ा है। 44.4 फीसदी महिलाओं को धमकियां मिल चुकी हैं।

Courtesy- DW Hindi

TOPPOPULARRECENT