Tuesday , September 19 2017
Home / International / दुनिया भर में मानव अधिकारों की बात करने वाले अमेरिका में 46 प्रतिशत “काले लोग” भेदभाव का शिकार

दुनिया भर में मानव अधिकारों की बात करने वाले अमेरिका में 46 प्रतिशत “काले लोग” भेदभाव का शिकार

वाशिंगटन। दुनिया भर में मानव अधिकारों की बात करने वाले अमेरिका में काले लोगों के साथ गंभीर पूर्वाग्रह और भेदभाव हो रहा है और एक सर्वेक्षण के अनुसार 46 प्रतिशत काले ने अपने साथ दैनिक जीवन में भी भेदभाव की घटनाओं की बात स्वीकार की है। अमेरिका में अध्ययन के आधार पर कंपनी गैलप की सोमवार को जारी एक रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका में 46 प्रतिशत काले विशेष स्थानों या विशेष परिस्थितियों के बजाय रोजमर्रा की जिंदगी में भी भेदभाव का शिकार हो रहे हैं। गैलप ने सात जून से एक जुलाई के बीच यह सर्वे कराया था। सर्वेक्षण में पिछले एक दशक में काम की जगह पर,खरीदारी करते हुए पुलिस से संबंधित कामकाज, बार या रेस्तरां में और अस्पताल में भेदभाव के पांच परिस्थितियों के बारे में सवाल पूछे गए थे। 46 प्रतिशत अश्वेतों ने कम से कम एक स्थिति में अपमानजनक बात स्वीकार की जबकि 25 प्रतिशत ने दो, 20 प्रतिशत ने तीन, सात प्रतिशत ने चार और तीन प्रतिशत ने सभी पांचों परिस्थितियों में दुर्व्यवहार की बात स्वीकार की।

सर्वेक्षण में गोरे लोगों से काले लोगों के साथ भेदभाव के बारे में सवाल पूछे गए। पिछले दो सालों में काले लोगों के साथ भेदभाव की बातों को स्वीकार करने वाले गोरे लोगों की संख्या में वृद्धि हुई है। सर्वेक्षण में सबसे चौंकाने वाली बात यह रही कि बड़ी संख्या में सफेदफाम लोगों ने सियाह फाम के साथ पुलिस के दुरुपयोग की बात खुलकर स्वीकार की। हालांकि काले लोगों के साथ भेदभाव की बातें नई नहीं हैं लेकिन इन लोगों का कहना है कि खरीदारी करते हुए, रेस्तरां, बार में, थिएटर में या मनोरंजन के स्थानों में भी उनके साथ भेदभाव किया जाता है।

TOPPOPULARRECENT