Friday , August 18 2017
Home / Sports / दुविधा में था कि खेलना जारी रखूं या नहीं : युवराज सिंह

दुविधा में था कि खेलना जारी रखूं या नहीं : युवराज सिंह

कटक : कटक वनडे में 150 रनों की पारी के साथ शानदार वापसी करने वाले युवराज सिंह ने समूचे देश का दिल जीत लिया. शतक के बाद युवराज अपनी भावनाओं को काबू नहीं रख पाए और मैदान पर भावुक भी हुए. एक अखबार में छपी खबर के मुताबिक युवराज ने कहा कि कैंसर की बीमारी के बाद वापसी के बाद से ही लगातार अच्छा प्रदर्शन ना कर पाने से वह काफी परेशान थे. उन्होंने कहा कि टीम से बार-बार बाहर होने की वजह से उन्हें लग रहा था कि अब वह अपना खेल जारी नहीं रख पाएंगे.

युवराज ने कहा कि इस बीच मैंने अखबार, टीवी और खबरें देखना छोड़ दिया था जिससे की मेरे ऊपर कोई दबाव ना बनें. युवराज ने कहा कि उन्हें रणजी ट्राफी में रन बनाने का फायदा मिला और वह जिस पारी के इंतजार में थे वो उन्हें मिल गई.

धोनी के साथ साझेदारी के बारे में युवराज बोले कि उन्होंने और धोनी ने पहले भी टीम को कई मैच जिताएं हैं. उनके पास खूब अनुभव है और जिस तरह से वह उसका इस्तेमाल करते हैं वह बहुत शानदार है. वहीं कप्तान विराट कोहली की तारीफ करते हुए युवराज ने कहा कि विराट ने उन पर काफी भरोसा दिखाया, जिसके कारण वह अच्छा प्रदर्शन कर पाए.

गौरतलब है कि कटक में संकल्पपूर्ण पारी खेलते हुए युवराज ने न सिर्फ टीम इंडिया को संकट से उबारा, बल्कि दूसरी तरफ अपने पूर्व कप्तान का साथ हासिल कर इंग्लिश गेंदबाजों का जमकर सामना किया. उन्होंने 127 गंदों में 150 रनों की बेहतरीन पारी खेली. तीन साल तक भारतीय टीम में जगह बनाने के लिए तरसते रहे युवी ने अपने चयन को सही साबित किया.

TOPPOPULARRECENT