Friday , October 20 2017
Home / Uttar Pradesh / दूर की कौड़ी चली मोदी ने, इशारे में मांग लिया अक्सरियत

दूर की कौड़ी चली मोदी ने, इशारे में मांग लिया अक्सरियत

वजीरे आजम नरेंद्र मोदी सरकारी दौरे पर झारखंड आये थे। इफ़्तिताह और संगे बुनियाद का प्रोग्राम था। लेकिन मोदी का झारखंड दौरा सियासी में उफान लेकर आया है। भाजपाइयों ने इसी बहाने एसेम्बली इंतिख़ाब का आगाज कर दिया।

वजीरे आजम नरेंद्र मोदी सरकारी दौरे पर झारखंड आये थे। इफ़्तिताह और संगे बुनियाद का प्रोग्राम था। लेकिन मोदी का झारखंड दौरा सियासी में उफान लेकर आया है। भाजपाइयों ने इसी बहाने एसेम्बली इंतिख़ाब का आगाज कर दिया।

वहीं वजीरे आजम मोदी ने मरकज़ हुकूमत की तरफ से पांच-पांच सौगात देकर और झारखंड को तरक़्क़ी के नक्शे में खड़ा करने की दरख्वास्त के साथ कूवत दे गये। मोदी ने दो टूक कहा : झारखंड की हालात मंजूर नहीं। सूरत बदलेंगे। मिल जुल कर बदलेंगे। तकरीब सरकारी थी।

सियासत नहीं हो सकती थी लेकिन नरेंद्र मोदी अपने तकरीर में दूर की कौड़ी खेल गये। इशारों में ही झारखंड में आने वाले इंतिख़ाब के लिए मंत्र दिया। मोदी ने मरकज़ की हुकूमत की तुलना करते हुए लोगों से ही पूछा : मरकज़ की हुकूमत तेजी से कदम कैसे उठा रही है। फैसले कैसे हो रहे हैं। फिर बताया : मुकाममिल अक्सरियत की हुकूमत बनी है। इत्तिहाद की दुनिया से बाहर हूं।

पूरे यकीन के साथ कदम बढ़ा रहा हूं। झारखंड में भी लोगों को तय करने को कहा कि मुकाममिल अक्सरियत और मुस्तहकिम हुकूमत सरकार बने। वजीरे आजम ने मिसाल दे कर समझाया। 13 -14 साल की उम्र अहम होती है। खानदान में भी 13-14 साल के बेटा-बेटी का वालिदैन स्पेशल केयर रखते हैं। इंसान की ज़िंदगी में 13 से 18 साल की उम्र जैसे अहम है, वैसे ही झारखंड के लिए भी यह अहम है। है.

आपको तय करना है कि 18 साल में झारखंड कैसा होगा। वजीरे आजम का इशारा साफ था कि आने वाला इंतिख़ाब झारखंड के लिए अहम है। अगले पांच सालों में झारखंड 18 साल का होगा। वजीरे आजम कहना चाह रहे थे कि रियासत में मुकाममिल अक्सरियत की हुकूमत बनायें। मुस्तहकिम हुकूमत दें। हालांकि वजीरे आजम ने किसी पार्टी खुसुसि का नाम नहीं लिया। लेकिन शुरुआत में ही कह दी कि मरकज़ में मुस्तहकिम और मजबूत हुकूमत है। है.

TOPPOPULARRECENT