Wednesday , October 18 2017
Home / Hyderabad News / दू बा दू प्रोग्राम मिल्लत-ए-इस्लामीया के मसाइल की यकसूई की सिम्त मुस्तहसिन क़दम

दू बा दू प्रोग्राम मिल्लत-ए-इस्लामीया के मसाइल की यकसूई की सिम्त मुस्तहसिन क़दम

इदारा सियासत-ओ-माइनॉरिटीज़ डेवलपमेंट फ़ोर्म और सीरत उलज़हरा कमेटी के ज़ेरे एहतेमाम शीया बिरादरी के लिए मुनाक़िदा 39 वां दू बा दू मुलाक़ात प्रोग्राम कल रात 10 बजे इख़तेताम को पहुंचा जिस में तक़रीबन 2000 हज़ार वालिदैन-ओ-सरपरस्तों ने शिरकत क

इदारा सियासत-ओ-माइनॉरिटीज़ डेवलपमेंट फ़ोर्म और सीरत उलज़हरा कमेटी के ज़ेरे एहतेमाम शीया बिरादरी के लिए मुनाक़िदा 39 वां दू बा दू मुलाक़ात प्रोग्राम कल रात 10 बजे इख़तेताम को पहुंचा जिस में तक़रीबन 2000 हज़ार वालिदैन-ओ-सरपरस्तों ने शिरकत की। ज़हीरुद्दीन अली ख़ान मैनेजिंग एडीटर रोज़नामा सियासत ने दु बा दु प्रोग्राम की सदारत की।

मौलाना शान हैदर ने मुख़ातब करते हुए कहा कि दू बा दू प्रोग्राम मिल्लत-ए-इस्लामीया को दर पेश एक संगीन मसले को हल करने की सिम्त इंतिहाई मुस्तहसिन इक़दाम है। उन्होंने कहा कि इस प्रोग्राम को शीया उल्मा की मुकम्मिल ताईद-ओ-हिमायत हासिल है। उन्होंने मुसलमानों से अपील की के वो मुआशरे की इस्लाह के लिए अपनी सोनच-ओ-फ़िक्र में तबदीली लाएंगे अल्लामा ने इस मौके पर उमत में इत्तेहाद और बाहमी मेल जोल को नागुज़ीर क़रार दिया।

नवाब सय्यद असग़र हुसैन मेहमान ख़ुसूसी ने कहा कि इस प्रोग्राम को कामयाबी से हमकनार करने की ज़िम्मेदारी वालिदैन पर है। उन्होंने रिश्तों के इंतेख़ाब में इस्लामी तालीम को बुनियाद बनाने पर ज़ोर दिया। उन्होंने कहा कि दू बा दू मुलाक़ात प्रोग्राम मुस्लिम मुआशरे के लिए एक संग-ए-मील है जिस के लिए वो इदारा सियासत और माइनॉरिटीज़ डेवलपमेंट फ़ोर्म के ज़िम्मेदारों को मुबारकबाद देते हैं। आबिद सिद्दीक़ी सदर एम डी एफ़ ने कहा कि शीया लड़कों और लड़कीयों के रिश्तों को तए करने के लिए ये दूसरा प्रोग्राम मुनाक़िद किया गया इस का मक़सद वालिदैन-ओ-सरपरस्तों को रिश्ते तए करने में सहूलतें-ओ-आसानी पैदा करना है।

उन्होंने कहा कि इदारा सियासत ने हुकूमत तेलंगाना की तरफ से शुरू करदा शादी मुबारक स्कीम के लिए एक हेल्पलाइन क़ायम की है और साथ ही अवाम शऊर की बेदारी के लिए तशहीरी काम जारी है। उन्होंने कहा कि दू बा दू प्रोग्राम ना सिर्फ़ हैदराबाद बल्कि बैरूनी मुल्कों में भी मक़बूलियत हासिल कररहा है।

उन्होंने उम्मीद ज़ाहिर की के इस प्रोग्राम के ज़रीये बाआसानी रिश्ते तए होंगे। सय्यद अली रज़ा सदर सीरत उलज़हरा कमेटी ने कहा कि इदारा सियासत ने तमाम मुस्लिम तबक़ात में इत्तेहाद और मेल जोल पैदा करने के लिए ग़ैरमामूली इक़दामात किए हैं चुनांचे शीया बिरादरी के लिए दू बा दू प्रोग्राम एक शानदार कोशिश है।

दू बा दू मुलाक़ात प्रोग्राम में खासतौर पर स्क्रीन आवेज़ां किया गया जिस पर लड़कों के बायो डाटास और फ़ोटो का मुशाहिदा करवाया गया। वालिदैन-ओ-सरपरस्तों ने इस नए सिस्टम की सताइश की। दू बा दू प्रोग्राम में ज़ाकिर एहलेबेत मौलाना सय्यद अली मर्ज़ी अब्बास मुहम्मद अज़हरुद्दीन मीर हुस्न रज़ा मिर्ज़ा मुहम्मद हुस्न के अलावा दुसरे मोअज़्ज़िज़ीन ने शिरकत की।

TOPPOPULARRECENT