Tuesday , October 24 2017
Home / Entertainment / देवानंद के साथ शूटिंग यादगार रही : फ़रीदा जलाल

देवानंद के साथ शूटिंग यादगार रही : फ़रीदा जलाल

बाली वुड में आज जिसे सदाबहार अदाकारा कहा जा सकता है वो बलामबालग़ा फ़रीदा जलाल हैं। उन्होंने कई सुपर स्टारों का दौर देखा और उनके उरूज-ओ-ज़वाल की गवाह हैं लेकिन हीरोइन के रोलस‌ से लेकर कैरेक्टर ऐक्ट्रीयस और फिर माँ के रोलस‌ करनेवाली फ़र

बाली वुड में आज जिसे सदाबहार अदाकारा कहा जा सकता है वो बलामबालग़ा फ़रीदा जलाल हैं। उन्होंने कई सुपर स्टारों का दौर देखा और उनके उरूज-ओ-ज़वाल की गवाह हैं लेकिन हीरोइन के रोलस‌ से लेकर कैरेक्टर ऐक्ट्रीयस और फिर माँ के रोलस‌ करनेवाली फ़रीदा जलाल ने टी वी में भी अपनी अलाहदा शनाख़्त बनाई।

1967 में ताराचंद बरजा टिया की फ़िल्म तक़दीर से उन्हों ने अपना फ़िल्मी कैरियर शुरू किया था जो अपने ज़माने के मशहूर और हिट हीरो आँजहानी भारत भूषण की बतौर हीरो आख़िरी फ़िल्म थी। फ़रीदा जलाल से जब चिल्डर्न फ़िल्म फ़ैस्टीवल के मौक़ा पर मीडिया ने बातचीत की तो उन्होंने अपने गुज़रे हुए ज़माने को याद करते हुए कहा कि बाली वुड में उन्होंने दिलीप कुमार से लेकर दीपक कुमार तक तक़रीबन हर हीरो के साथ काम किया लेकिन उन्हें देवानंद की फ़िल्म महल में देवानंद को रिझाने वाले गाने आईए आप का था हमें इंतिज़ार की शूटिंग का ज़माना याद आता है जो उस ज़माने में बोल्ड क़दम से ही ताबीर किया जा सकता है।

फ़रीदा जलाल ने कहा कि उन्होंने तक़रीबन एक कैबरे आर्टिस्ट की तरह कपड़े ज़ेब-ए-तले कर रखे थे जहां वो हीरो को रिझाते हुए कुछ राज़ मालूम करने की कोशिश करती हैं। देव साहिब के साथ शूटिंग का वो ज़माना आज भी यादगार है। फ़रीदा जलाल ने कहा कि एक पुरानी फ़िल्म भी महल के नाम से बनाई गई थी जिस में अशोक कुमार और मधूबाला ने अहम किरदार अदा किए थे जिस ने सस्पन्नस फिल्मों के एक नए दौरा का आग़ाज़ किया था।

याद रहे कि राजेश खन्ना के साथ फ़िल्म आराधना में भी उन्होंने हीरोइन का रौल अदा किया था जिस में उन पर फ़िल्माया गया गाना बाग़ों में बिहार है 70-ए-के दहिय में बेहद मशहूर हुआ था।

TOPPOPULARRECENT