Saturday , September 23 2017
Home / Bihar News / देवेगौड़ा के एतराज़ के बाद JDU को ‘चक्र’ का सिम्बल!

देवेगौड़ा के एतराज़ के बाद JDU को ‘चक्र’ का सिम्बल!

पटना : साबिक़ वजीरे आजम एचडी देवेगोड़ा के एतराज़ के बाद पुराने जनता दल को एलोट चक्र इंतिख़ाब सिम्बल जदयू का हक़ होगा। जदयू ने पुराना जनता दल को एलॉटमेंट ‘चक्र’ इंतिख़ाब सिम्बल पर दावा किया है। एलेक्शन कमीशन ने फिलहाल चक्र इंतिख़ाब सिम्बल को फ्रीज रखा है। वजीरे आला नीतीश कुमार ने भी जुमेरात को साफ कर दिया कि पार्टी अपना इंतिख़ाब सिम्बल बदलना चाह रही है और ‘तीर’ से बदल कर ‘चक्र’ रखने की कोशिश चल रहा है।

उन्होंने कहा कि दीगर पार्टियों का इंतिख़ाब सिम्बल तीर-धनुष रहने की वजह से, जदयू के तीर निशान पर वोट डालने वाले लोग गलतफहमी का शिकार हो जाते हैं। इसकी वजह से जदयू को नुकसान हो जाता है। मुसलसल हर इंतिख़ाब में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
बिहार एसेम्बली इंतिख़ाब में इस बार कई सीटों पर इसी वजह से हार हुई है। इसलिए पार्टी के अंदर आम राय है कि इंतिख़ाब सिम्बल को बदल दिया जाये। वजीरे आला ने कहा कि ओपश्नल इंतिख़ाब सिम्बल के लिए ‘चक्र’ सिम्बल रखने का गौर हो रहा है। यह हमारा पुराना सिम्बल है। जेडीएस चीफ़ व साबिक़ वजीरे आजम एचडी देवगौड़ा से बातचीत चल रही है। उनको अगर एतराज़ नहीं होगी तो ‘चक्र’ सिम्बल रखने के लिए कोशिश किया जायेगा और एलेक्शन कमीशन को दरख्वास्त भेजा जायेगा।

पुराना जनता दल परिवार से जब जनता दल एस और जदयू अलग हुआ उस समय जदयू को तीर इंतिख़ाब सिम्बल तक़सीम किया गया और जेडीएस को अलग सिंबल मिला। कमीशन ने उसी वक़्त से पुराने जनता दल को अलोटमेंट ‘चक्र’ इंतिख़ाब सिम्बल को फ्रीज कर दिया है। तजवीज के मुताबिक चक्र इंतिख़ाब सिम्बल जदयू को अलोटमेंट किये जाने के पहले कमीशन को जेडीएस से एनओसी की जरूरत होगी। इस सिलसिले में बिहार एसेम्बली इंतिख़ाब के दौरान ही पार्टी के क़ौमी सदर शरद यादव और जेनरल सेक्रेटरी केसी त्यागी ने एलेक्शन कमीशन से मिल कर चक्र इंतिख़ाब सिम्बल अलोटमेंट करने की मांग की थी।

जनता दल यूनाइटेड को तीर छोड़ चक्र सिंबल आवंटित करने में साबिक़ वजीरे आजम एचडी देवेगौड़ा की पार्टी जनता दल एस को कोई एतराज़ नहीं है। जदयू की दरख्वास्त पर जेडीएस एलेक्शन कमीशन को तहरीरी तौर पर यह इत्तिला एलेक्शन कमीशन को देगा। कमीशन ने फिलहाल इंतिखाबी सिंबल नयी दिल्ली में पार्टी ने एलेक्शन कमीशन से मिल कर इंतिख़ाब सिम्बल बदलने के लिए दरख्वास्त दे दिया है।

 

TOPPOPULARRECENT