Monday , September 25 2017
Home / Khaas Khabar / देशभर की एटीएम सेवाएं सामान्य होने में दस दिन लगेंगे-एसबीआई

देशभर की एटीएम सेवाएं सामान्य होने में दस दिन लगेंगे-एसबीआई

नई दिल्ली।एक तरफ जहां एटीएम से नकदी निकालने को लेकर अफरा-तफरी मची हुई है, वहीं देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने कहा कि एटीएम सेवाओं के सही ढ़ंग से काम अभी दस दिन से ज्यादा का वक्त लग जायेगा।

बैंक की चेयरमैन अरुंधती भट्टाचार्य ने कहा कि एटीएम मशीनों को तकनकी हिसाब से काम के लिए फिर से तैयार करने में समय लगता है।उन्होंने कहा कि एटीएम के री-कन्फीगरेशन में समय लगता है क्यों कि हमें इसे एक-एक करके करना पड़ता है जैसा कि हम पहले भी कर चुके हैं। दस दिन में स्थिति सामान्य हो जानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि आप को समझना चाहिए कि सभी बैंकों को मिला कर देश भर में दो लाख एटीएम हैं और केवल तीन चार कंपनियां है जो उसके लिए तकनीकी सेवाएं देती हैं। गौरतलब है कि आठ तारीख को आधी रात से 500 और 1000 रुपए के नोटों का चलन बंद करने के साथ ही एटीएम से लेन देन बंद कर दिया गया है।
अरुंधती ने यह भी कहा कि उनके ग्राहक एसबीआई का डेबिट कार्ड बिना किसी फिक्र के एटीएम , प्वाइंट आफ सेल और ई-कामर्स साइटों पर इस्तेमाल कर सकते हैं।

इससे पहले सरकार ने एटीएम मशीनों के चालू होने की घोंषणा की थी। लेकिन बहुत से बैंक आउट ऑफ सर्विस बता रहे थे। बैंक ने कहा है कि एटीएम मशीनों की संख्या बहुत अधिक है जबकि उसके लिए तकनीकी सेवाएं मुहैया कराने वाली इकाइयां कुछ ही हैं।

जाली नोटों का धंधा बंद के लिए भारत सरकार ने 500 और 1000 रुपये के नोट बंद करने का ऐलान किया है। मंगलवार आधी रात से तत्काल प्रभाव से 500 और 1000 रुपये के नोटों को बैन कर दिया गया था। पुराने नोट बदलने के लिए 10 नवंबर से 30 दिसंबर तक का समय निर्धारित किया गया है।

एटीएम में कैश उपलब्ध कराने की आज से सरकार और बैंकों के सामने सबसे बड़ी चुनौती है। हालांकि ये दावा किया गया है कि इसके लिए पूरी तैयारी कर ली गई है, लेकिन फिर भी शुरूआती कुछ दिनों में कहीं कहीं लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। हालांकि इसके भी रास्ते हैं।

देशभर में करीब 2 लाख 20 हजार एटीएम हैं।इन एटीएम में पैसा डालने के लिए करीब 8800 गाड़ियां है।एक एटीएम में 10 हजार नोट डाले जा सकते हैं।

TOPPOPULARRECENT