Sunday , October 22 2017
Home / Delhi News / देश में 400 चुनिंदा रेलवे स्टेशनों को बनाया जायेगा वर्ल्ड क्लास

देश में 400 चुनिंदा रेलवे स्टेशनों को बनाया जायेगा वर्ल्ड क्लास

नई दिल्ली। रेलवे मंत्रालय ने विश्वस्तरीय सुविधाओं से स्टेशनों को लैस करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। केंद्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने बुधवार को इस सार्वजनिक-निजी भागीदारी (पीपीपी) मॉडल के तहत तैयार योजना को लांच किया। बृहस्पतिवार से रेलवे निविदा लेना शुरू कर देगा। रेलवे की यह योजना एक लाख करोड़ रुपये की सबसे बड़ी पीपीपी योजना है।

पहले चरण में फरीदाबाद, जम्मू-तवी समेत 23 स्टेशनों का दोबारा नए सिरे से विकास का काम शुरू किया जाएगा। इसके अलावा दिल्ली के बिजवासन, आनंद विहार, अमृतसर और चंडीगढ़ रेलवे स्टेशनों को विश्वस्तरीय सुविधा से लैस किया जाएगा।

देश के चुनिंदा 400 रेलवे स्टेशन को इस विश्वस्तरीय सुविधाओं से लैस करने का खाका रेलवे मंत्रालय ने तैयार कर लिया है। रेलवे के आंकड़ों के मुताबिक स्टेशन पुनर्विकास की श्रेणी में चयनित किए गए 400 स्टेशनों को मिलाकर कुल 2200 एकड़ जमीन है, जिसका विकास किया जाएगा।

इस प्रोजेक्ट को लांच करने के दौरान प्रभु ने कहा कि सभी रेलवे स्टेशनों को विश्वस्तरीय बनाया जाएगा। ताकि सरकार को राजस्व का फायदा मिलने के साथ यात्रियों को सुविधाएं मिले। प्रभु ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से स्टेशनों के विकास की जानकारी रेलवे अधिकारियों को दिए। पारदर्शिता के लिए निविदा प्रक्रिया मॉडिफाइड स्विस चैलेंज पद्धति से किया जाएगा।

उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक आर के कुलश्रेष्ठ ने उत्तर रेलवे के मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम में बताया कि पहले चरण में 23 स्टेशनों के पुनर्विकास को लांच किया जा रहा है। दूसरा चरण जून में शुरू किया जाएगा। इस दौरान 100 स्टेशनों के विकास के लिए टेंडर किया जाएगा, तीसरे चरण में 250 स्टेशनों के विकास के लिए चयन किया जाएगा। यह प्रक्रिया दिसंबर में पूरी कर ली जाएगी।

TOPPOPULARRECENT