Sunday , September 24 2017
Home / Politics / देश सबसे खराब आर्थिक दौर से गुजर रहा है- कांग्रेस

देश सबसे खराब आर्थिक दौर से गुजर रहा है- कांग्रेस

मैसूरु। कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता ब्रजेश कलप्पा ने शनिवार को कहा कि पिछले साल नवम्बर में केंद्र सरकार ने अधिक मूल्य वर्ग के नोटों के विमौद्रीकरण का जो निर्णय लिया था वह अब देश पड़ भारी रहा है।

यहां संवाददाताओं से बातचीत में कलप्पा ने कहा कि विमौद्रीकरण के कारण न सिर्फ देश के विकास दर में गिरावट आई है बल्कि देश अब तक के सबसे खराब आर्थिक दौर का सामना कर रहा है। उन्होंने कहा कि यूपीए की दो सरकारों के कार्यकाल में देश का विकास दर बढ़ रहा था लेकिन मोदी सरकार के कार्यकाल में विकास दर में गिरावट आई है।

उन्होंने कहा कि विमौद्रीकरण के बाद ही पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनोमहन सिंह ने आशंका जताई थी कि देश के विकास दर में 1-2 फीसदी की गिरावट आ सकती है और अब उनकी यह आशंका सच साबित हो रही है। कलप्पा ने कहा कि विकास दर के एक फीसदी डेढ़ लाख करोड़ रुपए के समान होती है और इसमें दो फीसदी गिरावट आने का मतलब है कि देश को तीन लाख करोड़ रुपए का घाटा हो चुका है।

कलप्पा ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने सकल घरेलू उत्पाद दर (जीडीपी) की गणना पद्धति में बदलाव सिर्फ विकास को बढ़ा-चढ़ाकर दिखाने के लिए किया था। कलप्पा ने दावा किया कि जब मनमोहन सिंह ने पद छोड़ा था उस वक्त देश की जीडीपी 10.9 फीसदी थी जो अब घटकर सिर्फ 6.1 फीसदी रह गई है।

कलप्पा ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने 2014 के लोकसभा चुनाव प्रचार में दो करोड़ रोजगार के अवसर सृजित करने का वादा किया था लेकिन तीन साल के शासन के बाद अब स्थिति यह है कि नए रोजागर के अवसर तो नहीं बढ़े लेकिन आईटी सहित दूसरे क्षेत्रों में कार्यरत लोगों की नौकरी पर खतरे मंडरा रहे हैं। दूरसंचार व सूचना तकनीक क्षेत्र पर विमौद्रीकरण का सबसे ज्यादा बुरा असर पड़ा है।

अकेले आईटी क्षेत्र में डेढ़ लाख लोगों की नौकरी संकट में है। कलप्पा ने कहा कि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बीएस येड्डियूरप्पा अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में 150 सीटें जीतने का दावा कर रहे हैं लेकिन विधानसभा के दो सीटों के उपचुनाव में भाजपा की हार के बाद उनका मिशन अब सिर्फ 50 सीटों तक सिमट गया है।

उन्होंने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं है कि अगले चुनाव के बाद येड्डियूरप्पा विपक्ष के नेता होंगे। उन्होंने कहा कि सत्ता में रहते हुए दलितों की उपेक्षा करने वाले भाजपा नेता अब सिर्फ राजनीतिक लाभ के लिए इस समुदाय के लोगों के भोजन कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने किसानों के कल्याण के लिए कुछ भी नहीं किया। मंदसौर में कर्ज माफी की मांग कर रहे किसानों पर गोली चलाने की घटना भाजपा के किसान हितैषी होने के दावों की पोल खोलता है।

उन्होंने कहा कि मोदी मंत्र के सहारे अब भाजपा के आगे किसी भी चुनाव मेंं जीतना मुश्किल होगा। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार कावेरी और महादयी जल बंटवारा विवाद सुलझाने में विफल रही है।

TOPPOPULARRECENT