Wednesday , October 18 2017
Home / India / देहाती औरत कहना वज़ीर-ए-आज़म हिंद की तौहीन : मोदी

देहाती औरत कहना वज़ीर-ए-आज़म हिंद की तौहीन : मोदी

वज़ीर-ए-आज़म पाकिस्तान नवाज़ शरीफ़ की जानिब से अपने हिंदुस्तानी हम मंसब मनमोहन सिंह के बारे में देहाती औरत कहे जाने से मुताल्लिक़ रिमार्क पर नरेंद्र मोदी ने उसे वज़ीर-ए-आज़म की सब से बड़ी तौहीन क़रार दिया।

वज़ीर-ए-आज़म पाकिस्तान नवाज़ शरीफ़ की जानिब से अपने हिंदुस्तानी हम मंसब मनमोहन सिंह के बारे में देहाती औरत कहे जाने से मुताल्लिक़ रिमार्क पर नरेंद्र मोदी ने उसे वज़ीर-ए-आज़म की सब से बड़ी तौहीन क़रार दिया।

नई दिल्ली में जल्सा-ए-आम से ख़िताब करते हुए बी जे पी के विज़ारत उज़्मा के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने नवाज़ शरीफ़ से मुख़ातब होते हुए कहा कि नवाज़ शरीफ़ तुमने ये हिम्मत कैसे की हमारे मुल्क के वज़ीर-ए-आज़म को देहाती औरत क़रार देने की जुर्रत किस तरह हुई । क्या ये रिमार्क वज़ीर-ए-आज़म हिंद की तौहीन नहीं है।

मोदी ने कहा हम वज़ीर-ए-आज़म की पालिसीयों के ख़िलाफ़ लड़ सकते हैं, लेकिन उनकी तौहीन बर्दाश्त नहीं करेंगे। ये 2 बिलीयन अवाम की आबादी वाला मुल्क है जहां अपने वज़ीर-ए-आज़म की तौहीन हरगिज़ बर्दाश्त नहीं की जाएगी। ये तनाज़ा उस वक़्त पैदा हुआ जब पाकिस्तान के सहाफ़ी हामिद मीर ने जी टी वी पर ये तबसेरा किया कि नवाज़ शरीफ़ ने उनके साथ ब्रेकफास्ट पर मुलाक़ात के दौरान इस तास्सुर के साथ देहाती औरत का लफ़्ज़ इस्तिमाल किया। पाकिस्तानी सहाफ़ी के इस तबसरे को एन डी टी वी की बरखा दत्त ने मुस्तरद कर दिया और कहा कि नवाज़ शरीफ़ ने अपने तबसरे में सिर्फ़ सदर अमरीका बराक ओबामा के सामने पाकिस्तान से मुताल्लिक़ वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह की शिकायत पर नापसंदीदगी का इज़हार किया है ताहम बरखा दत्त ने अपने ट्वीटर पर लिखा है कि हामिद मीर का तबसेरा सरासर मस्ख़शुदा है और नवाज़ शरीफ़ ने इस तरह का लफ़्ज़ इस्तिमाल ही नहीं किया।

दोनों सहाफ़ियों के दरमियान इस तनाज़े पर सिलसिले वार ट्वीटर तहरीरें सामने आ रही हैं। हामिद मीर ने अपने प्रोग्राम में तबसेरा किया कि नवाज़ शरीफ़ ने ये कहा था कि ऐसा मालूम होता है कि अगर मनमोहन सिंह ने मेरे ताल्लुक़ से शिकायत करने के लिए ओबामा से मुलाक़ात की है तो ये एक देहाती औरत की तरह हरकत होगी।

नरेंद्र मोदी ने इस तबसरे से मसले बनाते हुए कहा कि नवाज़ शरीफ़ के सामने बैठने वाले सहाफ़ियों को हमारे वज़ीर-ए-आज़म की तौहीन करने पर अपने मुल्क की अवाम को जवाब देना होगा। मैं इन सहाफ़ियों से जिन की क़ौमीयत के बारे में मुझे इत्तिला नहीं है लेकिन अपने मुल्क के सहाफ़ियों से तो ज़रूर कहूंगा कि वो नवाज़ शरीफ़ के साथ बैठ कर मिठाई खा रहे थे उन के सामने जब अपने वज़ीर-ए-आज़म की तौहीन करते हुए उन्हें एक देहाती ख़ातून कहा जा रहा था तो उन्हें नवाज़ शरीफ़ की मिठाई ठुकराकर इस इजलास से वाक आउट करना चाहिए था । हामिद मीर ने इस ताल्लुक़ से मज़ीद लिखा है कि नवाज़ शरीफ़ जिस वक़्त देहाती औरत का रिमार्क कर रहे थे बरखा दत्त अपना कैमरा लाने के लिए इजलास से बाहर चली गई थीं इस लिए वो नवाज़ शरीफ़ की पूरी बात नहीं सुन सकी। ये कोई बड़ा मसला नहीं है में तवक़्क़ो करता हूँ इसे यहीं ख़त्म कर दिया जाना चाहिए। पाकिस्तानी सहाफ़ी ने ये भी वज़ाहत की कि नवाज़ शरीफ़ ने मनमोहन सिंह के ख़िलाफ़ कोई तज़हीक आमेज़ रिमार्क नहीं किया।

TOPPOPULARRECENT