Wednesday , October 18 2017
Home / Hyderabad News / देही रोज़गार तमानीयत स्कीम पर अमल आवरी , आंधरा प्रदेश सर-ए-फ़हरिस्त

देही रोज़गार तमानीयत स्कीम पर अमल आवरी , आंधरा प्रदेश सर-ए-फ़हरिस्त

हैदराबाद । ०७। सितंबर : ( सियासत न्यूज़ ) : रियास्ती हुकूमत ने महात्मा गांधी नैशनल रूरल इम्पलाइमैंट ग्यारंटी स्कीम ( महात्मा गांधी क़ौमी देही रोज़गार तमानीयत स्कीम ) के तहत रियासत भर में रूबा अमल लाए जाने वाले मुख़्तलिफ़ तरक़्क़ीय

हैदराबाद । ०७। सितंबर : ( सियासत न्यूज़ ) : रियास्ती हुकूमत ने महात्मा गांधी नैशनल रूरल इम्पलाइमैंट ग्यारंटी स्कीम ( महात्मा गांधी क़ौमी देही रोज़गार तमानीयत स्कीम ) के तहत रियासत भर में रूबा अमल लाए जाने वाले मुख़्तलिफ़ तरक़्क़ीयाती कामों में मुकम्मल तौर पर शफ़्फ़ाफ़ियत और बे क़ाईदगियों से पाक बनाने में कामयाबी हासिल करने काइद्दिआ किया और कहा कि आइन्दा किसी भी नौईयत की कोई बे क़ाईदगियों का मौक़ा फ़राहम नहीं होगा क्यों कि सोश्यल ऑडिट और स्पैशल कोर्टस का क़ियाम अमल में लाते हुए बहुत मूसिर-ओ-मुसबत इक़दामात किए गए ।

महात्मा गांधी क़ौमी देही रोज़गार तमानीयत स्कीम की अमल आवरी में रियासत आंधरा प्रदेश कुमलक भर में सर-ए-फ़हरिस्त रहने का एज़ाज़ हासिल है । इलावा अज़ीं रक़ूमात ख़र्च करने में भी सब से ज़्यादा अफ़राद को काम फ़राहम करते हुए सब से ज़्यादा रक़ूमात ख़र्च करने में भी रियासत को ही पहला मुक़ाम हासिल है ।

रियासत में स्कीम के तहत आग़ाज़ से अब तक 93 लाख अफ़राद को काम फ़राहम कर के बतौर उजरत जुमला 22,510 करोड़ रुपय ख़र्च किए गए । इस में 100 यौम मुकम्मल करने वाले अफ़राद की तादाद रियासत भर में जुमला 93 लाख है जो यौमिया कम अज़ कम 93 रुपय फी कस काम के इव्ज़ हासिल किए हैं और 100यौम काम मुकम्मल करने वालों की तादाद 43 लाख है । आज यहां रियास्ती सकरीटरीट में हुकूमत के शुरू करदा हफ़तावार प्रोग्राम परजापथम से ख़िताब करते हुए महिकमा देही तरक़्क़ी की कारकर्दगी से अख़बारी नुमाइंदों को वाक़िफ़ करवाते हुए रियास्ती वज़ीर देही तर कुयात मिस्टर डी मानिक्या विरह प्रसाद ने मज़कूरा इज़हार-ए-ख़्याल किया और बताया कि महात्मा गांधी क़ौमी देही रोज़गार तमानीयत स्कीम की अमल आवरी में मलिक गीर सतह पर रियासत आंधरा प्रदेश को पहला मुक़ाम हासिल हुआ ।

उन्हों ने मज़ीद कहा कि जारीया साल यानी माह अप्रैलता माह अगस्त तक रियासत में मुख़्तलिफ़ नौईयत के कामों की अंजाम दही के ज़रीया सिर्फ पाँच माह में 3375 करोड़ रुपय रोज़गार फ़राहमी पर ख़र्च किए गए । वज़ीर मौसूफ़ ने बताया कि एमजी एन आर अजी उसके ज़रीया 5925 करोड़ रूपियों के मसारिफ़ से 34 लाख एकड़ आराज़ीयात की सफ़ाई के ज़रीया काबिल काशत बनाया जा सका । 18131 छोटी आबपाशी के तालाबों की मुरम्मत के ज़रीया इन तालाबों को बहाल कर के 8.56 लाख एकड़ आराज़ीयात को पानी सेराब करने के लिए 3425 करोड़ रूपियों केमसारिफ़ से काम अंजाम दीए गए ।

1825 करोड़ रुपय के मसारिफ़ से 25048 तवीलसड़कों के काम अंजाम दीए गए जिस से 17388 देही मवाज़आत को मरबूत किया जा सकेगा । उन्हों ने बताया कि रियासत में इस प्रोग्राम के तहत 218 ग्राम पंचायत बिल्डिंग्स की तामीर मुकम्मल की गई और 4408 ग्राम पंचायत बिल्डिंग्स के काम जारी हैं जिस पर 228 करोड़ रुपय ख़र्च किए गए ।

मंडल की सतह पर मंडल दफ़ातिर की 6 इमारतेंमुकम्मल की गईं और मज़ीद 1024 मंडल इमारतों की तामीर जारी है जिस पर 35 करोड़ रुपय ख़र्च किए जा रहे हैं । वज़ीर मौसूफ़ ने बताया कि बहरसूरत रियासत में मज़कूरास्कीम के तहत ग़रीब-ओ-मज़दूर पेशा अफ़राद को रोज़गार फ़राहम करने के लिए रक़ूमात का बेहतर अंदाज़ में भरपूर इस्तिफ़ादा किया जा रहा है ।

जिस से देही ग़रीब-ओ-मज़दूरपेशा तबक़ात की मआशी हालत में बेहतरी पैदा होरही है और उन अफ़राद की क़ुव्वत ख़रीदमें भी ज़बरदस्त इज़ाफ़ा होरहा है । इस मौक़ा पर मसरस आर सुब्रामणियम परनसपाल सैक्रेटरी देही तर कुयात श्रीमती जिया लक्ष्मी कमिशनर रियास्ती देही तर कुयात-ओ-दीगर ओहदेदार भी मौजूद थे ।

TOPPOPULARRECENT