Tuesday , September 26 2017
Home / AP/Telangana / दो से ज़ाइद बच्चे रखने वाला मजलिसी कॉरपोटर्सस के मुस्तक़बिल का फ़ैसला

दो से ज़ाइद बच्चे रखने वाला मजलिसी कॉरपोटर्सस के मुस्तक़बिल का फ़ैसला

निज़ामबाद 27 अगस्त:म्यूनसिंपल कारपोरेशन निज़ामबाद की मीटिंग 27 अगस्त के रोज़ मेयर आकोला सुजाता की सदारत में मुनाक़िद हो रहा है। ये मीटिंग एहमीयत का हामिल है क्युं कि इस मीटिंग में मजलिस इत्तेहाद उल मुस्लिमीन से ताल्लुक़ रखने वाले 3 कॉरपोटर्सस के मुस्तक़बिल का फ़ैसला किए जाने के इमकानात हैं।

वाज़िह रहे कि 2014 में मुनाक़िदा म्यूनसिंपल कारपोरेशन निज़ामबाद के चुनाव में मजलिस के मुंतख़ब 6 कॉरपोटर्सस पर 2 से ज़ाइद बचे रहने की शिकायत करते हुए हरीफ़ उम्मीदवार ने अदालत से रुजू हुए थे। उनमें शामिल 6 कॉरपोटर्सस में 3 कॉरपोटर्सस पर निज़ामबाद की अदालत में और 3 कॉरपोटर्सस का केस हाईकोर्ट में ज़ेर-ए-समाआत है।

हाईकोर्ट ने 19 मई को म्यूनसिंपल कारपोरेशन को नोटिस जारी करते हुए डीवीझ़न नंबर 25 से मुंतख़ब फ़ातिमा ज़ुहरा, डीवीझ़न नंबर 29 से मुंतख़ब एम-ए फ़हीम डिप्टी मेयर, डीवीझ़न नंबर 36 से मुंतख़ब नजमा सुल्ताना से मुताल्लिक़ रिपोर्ट पेश करने की हिदायत दी थी जिस पर कमिशनर ने मुताल्लिक़ा कॉरपोटर्सस को नोटिस जारी करते हुए उनकी राएं भी हासिल की थी और कॉरपोटर्सस ने क़ानून 21B के तहत कोई ग़लती ना करने का इन्किशाफ़ भी किया था लेकिन इस के बावजूद भी जी एच एम एस एक्ट 1955 सेक्शन 23D के तहत कौंसिल के सामने पेश करते हुए कौंसिल की राय हासिल करते हुए कमिशनर को रिपोर्ट अदालत और हुकूमत को पेश करना है जिसकी वजह से इस मसले को एजंडा में शामिल किया गया।

हरीफ़ उम्मीदवारों ने मजलिस से मुंतख़ब कॉरपोटर्सस 2 से ज़ाइद बच्चे होने के सबूत पेश करते हुए अदालत से रुजू होते हुए ना-अहल क़रार देने की ख़ाहिश कर रहे है और इस मसले पर कौंसिल में कांग्रेस और बीजेपी शिद्दत के साथ क़वाइद के तहत काम करने का मुतालिबा कर रहे हैं और हरीफ़ उम्मीदवारों की तरफ से की गई शिकायत के बारे में मुकम्मिल तहक़ीक़ात करते हुए वाज़िह रिपोर्ट पेश करने के लिए मुतालिबा करने के इमकानात हैं।

कांग्रेस फ़्लोर लीडर एम-ए क़ुद्दूस ने इस बारे में बताया कि ये अदालत का मुआमला है और क़वाइद के तहत कौंसिल को काम करना है। क़वाइद की ख़िलाफ़वरज़ी करते हुए अदालत को गुमराह करने की कोशिश की गई तो अदालत को ये इख़तियार हासिल है कि कौंसिल को बरख़ास्त कर सकती है। बीजेपी भी इस मुआमले में शिद्दत के साथ इल्ज़ाम आइद करने के इमकानात हैं और बरसर-ए-इक़तिदार टीआराएस के भी चंद कॉरपोटर्सस इस मुआमले में शिद्दत इख़तियार करने की इत्तेला है और क़वाइद की अमल आवरी करते हुए शिकायत की दियानतदारी के साथ तहक़ीक़ात करने की सूरत में वाज़िह सूरत-ए-हाल मंज़र-ए-आम पर आने के इमकानात हेंजस की वजह से मीटिंग एहमीयत का हामिल है और अवाम में भी इस बारे में चिमीगोइयां जारी है।

TOPPOPULARRECENT