Monday , October 23 2017
Home / Uttar Pradesh / धंस सकती है धनबाद-रांची रेल लाइन

धंस सकती है धनबाद-रांची रेल लाइन

धनबाद-चंद्रपुरा-रांची रेल लाइन पर अंगारपथरा हॉल्ट के नज़दिक लिलटेन अंगारपथरा में इतवार सुबह ट्रेंच कटिंग मुकाम पर धमाके के साथ आग का लावा निकलने लगा। वाकिया से बीसीसीएल कतरास इलाक़े व रेलवे के अफसरों व मुलाज़िमीन में हड़कंप मच गया

धनबाद-चंद्रपुरा-रांची रेल लाइन पर अंगारपथरा हॉल्ट के नज़दिक लिलटेन अंगारपथरा में इतवार सुबह ट्रेंच कटिंग मुकाम पर धमाके के साथ आग का लावा निकलने लगा। वाकिया से बीसीसीएल कतरास इलाक़े व रेलवे के अफसरों व मुलाज़िमीन में हड़कंप मच गया। जमीन के नीचे, जहां आग का लावा फटा है, वहां से धनबाद-चंद्रपुरा-रांची/गोमो रेल लाइन महज 20 मीटर की दूरी पर है।

आग रेल लाइन के कितनी करीब है, इसका अनुमान लगाना मुश्किल है। आग भड़कने की वाकिया के बाद बीसीसीएल ने फौरन दमकल की एक गाड़ी भेज इस पर काबू पाने की कोशिश किया, पर कामयाबी नहीं मिली है। आग की लपटें इतनी तेज थीं कि दमकल का पानी कम पड़ गया। कई बार पानी लाने के लिए दमकल यहां-वहां दौड़ती रही। खबर लिखे जाने तक आग तेजी से फैलती जा रही थी। इस दौरान कामख्या- रांची एक्सप्रेस के अलावा कई ट्रेनें गुजरी। आग से धनबाद-रांची रेल लाइन के धंसने की खदशा बढ़ गयी है। इस ट्रैक पर कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है।

बताया जाता है कि एक सप्ताह पहले भी रेलवे के अफसरों ने जाये हादसा का जायजा लेकर गये थे। अफसरों ने आग पर काबू पाने के काम में तेजी लाने की हिदायत दिया था। इसके बावजूद बीसीसीएल के अफसरों ने मामले को संजीदगी से नहीं लिया। रेलवे ट्रैक से के नीचे लगी आग की वजह से कभी-भी भारी जान-माल की खदशा से इनकार नहीं किया जा सकता है।

‘‘बिजली की वजह से ट्रेंच कटिंग के काम में रुकावट पैदा हुई है। दो दिन से काम बंद था। इससे आग तेज हो गयी। जल्द ही काबू पा लिया जायेगा।
एस चटर्जी, पीओ सेंद्रा बांसजोड़ा

TOPPOPULARRECENT