Wednesday , October 18 2017
Home / Khaas Khabar / धनबाद-पटना इंटरसिटी पर नक्सलियों का हमला, 3 की मौत

धनबाद-पटना इंटरसिटी पर नक्सलियों का हमला, 3 की मौत

जमुई, 13 जून: बिहार के जमुई में धनबाद-पटना इंटरसिटी पर करीब 200 नक्सलियों ने हमला कर दिया है। दोपहर करीब एक बजे पटना से 150 किलोमटीर दूर जमुई के कुंधर हॉल्ट पर नक्सलियों ने ट्रेन को दिनदहाड़े घेर लिया और अंधाधुंध फायरिंग की। बताया जा रहा

जमुई, 13 जून: बिहार के जमुई में धनबाद-पटना इंटरसिटी पर करीब 200 नक्सलियों ने हमला कर दिया है। दोपहर करीब एक बजे पटना से 150 किलोमटीर दूर जमुई के कुंधर हॉल्ट पर नक्सलियों ने ट्रेन को दिनदहाड़े घेर लिया और अंधाधुंध फायरिंग की। बताया जा रहा है कि एक जवान और 2 मुसाफिरो की मौत हो गई है, जबकि गार्ड्स व ड्राइवर समेत 6 लोग ज़ख़्मी हुए हैं।

रेलवे के ज़राए का कहना है कि नक्सलियों ने ट्रेन में मौजूद आरपीएफ जवानों के हथियार छीन लिए और मुसाफिरों से लूटपाट की। बताया जा रहा है कि नक्सली आरपीएफ के 4 जवानों को अपने साथ ले गए। खबर है कि नक्सलियों ने करीब 1 घंटे तक अपने ऑपरेशन को अंजाम दिया।

ज़ाए वाकिया से सिर्फ 30 मिनट की दूरी पर सीआरपीएफ का कैंप है, लेकिन इत्तेला मिलने के करीब 1.30 घंटे बाद सीआरपीएफ के जवान ज़ाए वाकिया पर पहुंचे। एक न्यूज चैनल ने बिहार पुलिस के एक बड़े आफीसर के हवाले से बताया कि सीआरपीएफ के जवान नक्सलियों से डरते हैं। इस हमले के बाद मरकज़ी हुकुमत ने इमरजेंसी मीटिंग बुलाई है।

रेलवे ने हेल्प लाइन नंबर जारी किए हैं इन 3 नंबरों पर सारी इत्तेला ले सकते हैं:-

0326-2220016
0326-2220017
0326-2220018

नक्सली पहले से ही घात लगाए बैठे थे और ट्रेन के कुंधऱ पहुंचते ही फायरिंग शुरू कर दी। नक्सलियों ने ट्रेन पर कब्जा कर लिया। खबरों के मुताबिक, ट्रेन पर कब्जा करने के बाद नक्सलियों ने कुछ मुसाफिरों को यरगमाल (बंधक ) बना लिया और लूटपाट भी की। नक्सली कई मुसाफिरों बंधक बनाकर जंगल ले गए थे, लेकिन बाद में उन्हें छोड़ दिया। बताया जा रहा है कि ट्रेन पटना के लिए रवाना हो चुकी है।

पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन नक्सलियों की तादाद काफी ज्यादा होने की वजह से कोई जवाबी कार्रवाई नहीं कर पाई। रेलवे के एसपी ने बताया कि नक्सली वारदात करके फरार हो चुके हैं और सीआरपीएफ की टुकड़ियां मौके पर पहुंच रही हैं। उन्होंने बताया कि नक्सलियों की फायरिंग में आरपीएफ के जवान की मौत हो गई है।

इसके इलावा ट्रेन के ड्राइवर को भी गोली लगी है। पहले कहा जा रहा था कि ड्राइवर को नक्सलियों ने अगवा कर लिया है। एहतियातन हावड़ा-दिल्ली रूट की अप और डाउन ट्रेनें रोकी दी गई हैं।

नक्सली हमले को लेकर वज़ारत ए दाखिला में बैठक हुई है। इस बैठक के बाद वज़ीर ए ममलिकत ( दाखिला) आरपीएन सिंह ने कहा कि जवानों से हथियार छीनने के लिए यह हमला किया गया है।

गौरतलब है कि महीने भर के अंदर मुल्क में नक्सली हमले की दूसरी बड़ी वारदात है। इससे पहले, 25 मई को माविस्टो ने छत्तीसगढ़ में परिवर्तन यात्रा से लौट रहे कांग्रेसियों पर हमला किया था। दरभा घाटी में किए गए इस हमले में छत्तीसगढ़ कांग्रेस के सदर नंद कुमार पटेल, साबिक वज़ीर और सलमा जुडूम के बानी महेंद्र कर्मा, साबिक एमएलए उदय मुदलियार और विद्याचरण शुक्ल समेत 31 लोग मारे गए थे।

TOPPOPULARRECENT