Saturday , October 21 2017
Home / Sports / धोनी की जानिब से मुतनाज़ा फ़ैसला का बचाव‌

धोनी की जानिब से मुतनाज़ा फ़ैसला का बचाव‌

न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ यहां नेपर में पहले वन्डे में हिंदुस्तान टीम को मात बर्दाश्त करनी पड़ी है और मेक लेन पार्क की विकेट जिस पर स्पिनर्स के लिए कोई साज़गार हालात नहीं थे इस के बावजूद 4 फ़ास्ट बोलरों की बजाय हिंदुस्तानी टीम के कप्तान म

न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ यहां नेपर में पहले वन्डे में हिंदुस्तान टीम को मात बर्दाश्त करनी पड़ी है और मेक लेन पार्क की विकेट जिस पर स्पिनर्स के लिए कोई साज़गार हालात नहीं थे इस के बावजूद 4 फ़ास्ट बोलरों की बजाय हिंदुस्तानी टीम के कप्तान महिन्द्र सिंह धोनी ने अपनी सफ़ में 2 स्पिनर्स रवी चंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा को शामिल किया।

अश्विन ने 51 रन‌ दे कर कोई विकेट हासिल नहीं की जबकि जडेजा ने 9 ओवर्स में 61 रन‌ दिए । स्पिनर्स के लिए ग़ैर मौज़ूं विकेट पर 2 स्पिनर्स को शामिल किए जाने के फ़ैसले पर शदीद तन्क़ीद की जा रही है जिस के बावजूद धोनी ने अपने इस मुतनाज़ा फ़ैसला का दिफ़ा करते हुए कहा कि जब कभी 4 फ़ास्ट बोलरों के साथ मैदान सँभालते हैं तो 2 नताइज हासिल होते हैं।

अव्वल कप्तान पाबंदी का शिकार होता है या दूसरा हम मुक़ाबला में नाकाम होजाते हैं। धोनी के मुताबिक‌ स्पिनर्स ने बेहतर मुज़ाहरा किया है ताहम वो विकटस् हासिल करने में नाकाम रहे। कप्तान धोनी ने इस हक़ीक़त का भी एतराफ़ किया है बर्र-ए-सग़ीर के बरअक्स जब हिंदुस्तानी टीम बैरून-ए-मुमालिक में क्रिकेट खेलती है तो स्पिनर्स का रोल तबदील होजाता है।

धोनी के मुताबिक‌ गुजिश्ता 6 माह के दौरान टीम का बौलिंग शोबा बेहतर मुज़ाहरा करने में नाकाम रहा है जबकि बैटिंग शोबा ने टीम की जीत‌ में अहम रोल अदा किया है। पहले वन्डे में सेंचुरी स्कोर करने वाले साथी खिलाड़ी वीराट कोहली की धोनी ने काफ़ी सताइश की।

TOPPOPULARRECENT