Saturday , August 19 2017
Home / Sports / दबाव में छोड़ी धोनी ने टीम इंडिया की कप्तानी : आदित्य वर्मा

दबाव में छोड़ी धोनी ने टीम इंडिया की कप्तानी : आदित्य वर्मा

रांची : ‘महेंद्र सिंह धोनी ने भारतीय वनडे और टी20 टीम की कप्तानी छोड़ने का फैसला अचानक नहीं किया था बल्कि उन पर ऐसा करने के लिए दबाव बनाया गया था।’ यह सनसनीखेज आरोप बिहार क्रिकेट असोसिएशन के सचिव आदित्य वर्मा ने लगाया है। रविवार को रांची पहुंचे वर्मा ने कहा कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने संयुक्त सचिव अमिताभ चौधरी के दबाव में धोनी से वर्मा ने आरोप लगाया कि चौधरी ने 4 जनवरी को बीसीसीआई के मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद को फोन करके धोनी से उनकी भविष्य योजनाओं के बारे में पूछने को कहा। धोनी रणजी ट्रोफी सेमीफाइनल मुकाबले के लिए अपनी टीम झारखण्ड के साथ थे। इस मुकाबले में उनकी टीम को गुजरात के मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा। धोनी को रणजी ट्रोफी में झारखण्ड का मेंटॉर बनाया गया था।

वर्मा ने ‘विश्वस्त सूत्रों’ के हवाले से हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया, ‘चौधरी इस बात को लेकर नाखुश थे कि धोनी की मेंटॉरशिप में झारखण्ड मजबूत स्थिति में होने के बावजूद सेमीफाइनल में गुजरात से हार गया। इसके बाद चौधरी ने मुख्य चयनकर्ता को फोन करके धोनी से उनकी भविष्य की योजनाओं के बारे में पूछने को कहा। धोनी को पूरे घटनाक्रम से काफी धक्का लगा और इसके फौरन बाद उन्होंने इस्तीफा दे दिया।’

यदि ये सही है तो ये बहुत गंभीर बात है कि कैसे जोड़ तोड़ से बने क्रिकेट प्रशासक धोनी जैसे विख्यात और अपने देश का नाम ऊँचाइयों पे ले जाने वाले खिलाडी को अपनी ऊँगली पे नचाना चाहता था । वर्मा ने यह भी आरोप लगाया कि धोनी और चौधरी ( जो 2 जनवरी तक झारखण्ड राज्य क्रिकेट असोसिएशन के अध्यक्ष थे) के बीच मतभेद चल रहे थे। इनकी शुरुआत तब हुई धोनी ने जेएससीए के अनुरोध के बावजूद सेमीफाइनल मुकाबले में खेलने से इनकार कर दिया था।

हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया ने अमिताभ चौधरी से बात करने की कोशिश पर यह संभव नहीं हो पाया। धोनी ने चार जनवरी को ईमेल के जरिए बीसीसीआई को भारत की सीमित ओवरों की टीम की कप्तानी छोड़ने की जानकारी दे कर क्रिकेट जगत को हैरान कर दिया था।

TOPPOPULARRECENT