Friday , October 20 2017
Home / Hyderabad News / नए हज हाउस का अनक़रीब संग-ए-बुनियाद

नए हज हाउस का अनक़रीब संग-ए-बुनियाद

हैदराबाद 24 अप्रैल: वज़ीर-ए-क़लीयती बहबूद मुहम्मद अहमद उल्लाह ने कहा कि पहाड़ी शरीफ़ के क़रीब नए हज हाउस की इमारत की तामीर के सिलसिले में बहुत जल्द संग-ए-बुनियाद रखा जाएगा।

हैदराबाद 24 अप्रैल: वज़ीर-ए-क़लीयती बहबूद मुहम्मद अहमद उल्लाह ने कहा कि पहाड़ी शरीफ़ के क़रीब नए हज हाउस की इमारत की तामीर के सिलसिले में बहुत जल्द संग-ए-बुनियाद रखा जाएगा।

हज 2013 के आज़मीन की क़ुरा अंदाज़ी के बाद मीडीया के नुमाइंदों से बातचीत करते हुए अहमद उल्लाह ने कहा कि नए हज हाउस की तामीर के बारे में हज कमेटी और वक़्फ़ बोर्ड के दरमयान जारी तनाज़ा की जल्द यकसूई करली जाएगी और तामीरी काम जल्द शुरू होगा।

उन्हों ने कहा कि वक़्फ़ बोर्ड और हज कमेटी के ओहदेदार आपस में बैठ कर इस मुआमले की यकसूई करलींगे। पहाड़ी शरीफ़ में हज हाउस की तामीर के लिए 10 अकऱ्अराज़ी हासिल की गई है जोके वक़्फ़ बोर्ड की है।

इस अराज़ी की बाव‌नडरी वाल तामीर करली गई ताके अराज़ी की हिफ़ाज़त होसके। इमारत की तामीर का संग-ए-बुनियाद रखने चीफ़ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी से वक़्त लेने की कोशिश की जा रही है।

अहमद उल्लाह ने अराज़ी के बारे में वक़्फ़ बोर्ड और हज कमेटी के दरमयान जारी तनाज़ा पर कुछ भी कहने से इनकार कर दिया। वाज़िह रहे कि अराज़ी वक़्फ़ है और इस पर तामीर की जा रही इमारत पर कंट्रोल के सिलसिले में दोनों इदारों के दरमयान रसा कुशी जारी है।

शमसआबाद इंटरनेशनल एरपोर्ट के पार्किंग लॉट में शदीद धूप में नमाज़ जुमा की अदायगी के मसले पर जनाब अहमद उल्लाह ने बताया कि उन्हों ने जी एम आर के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर प्रसन्ना से इस सिलसिले में बातचीत की और जुमा के दिन टेंट नसब करने का मुतालिबा किया था जिस से उन्हों ने इत्तिफ़ाक़ किया ताहम दूसरे दिन तातील के सबब पिछ्ले जुमा को टेंट नहीं लगाया जा सका।

उन्हों ने उम्मीद ज़ाहिर की के आइन्दा जुमा को जी एम आर की तरफ से नमाज़ जुमा के मौके पर टेंट लगाया जाएगा।

अहमद उल्लाह ने कहा कि स्पीकर लोक सभा मिरा कुमार के दौरा कड़पा के बाइस वो जुमा को हैदराबाद में नहीं रहेंगे लिहाज़ा वो इस के बाद का जुमा शमसआबाद में अदा करने की कोशिश करेंगे।

अहमद उल्लाह ने नेहरु जूलॉजिकल पार्क की क़ुतुब शाही मस्जिद और मह्दीपटनम में वाक़्ये एक मस्जिद पर क़ब्ज़ों के बारे में तवज्जा दिलाए जाने पर वहां मौजूद चीफ़ एग्जीक्यूटिव ऑफीसर वक़्फ़ बोर्ड को हिदायत दी कि टास्क फ़ोर्स के साथ फ़ौरी दोनों मसाजिद का मुआइना करें और मसाजिद के तहफ़्फ़ुज़ के लिए फ़ौरी इक़दामात किए जाएं।(मज़ीद सिलसिला सफ़ा 10 पर)

TOPPOPULARRECENT