Saturday , August 19 2017
Home / Delhi / Mumbai / नकली पासपोर्ट के मामले में छोटा राजन को सात साल की कैद

नकली पासपोर्ट के मामले में छोटा राजन को सात साल की कैद

नई दिल्ली: एक विशेष अदालत ने जाली पासपोर्ट के एक मामले में गुंडों की टोली के सरगना छोटा राजन और तीन छात्रवृत्ति याब सरकारी कर्मचारियों को सात साल की सजा दी है। विशेष न्यायाधीश वीरेंद्र कुमार गोयल ने राजन और दूसरों को जालसाजी के अपराध में सजा दी है।

जालसाजी के अपराध में भारतीय पज़ीरिय आचार अधिकतम आजीवन कारावास की क्षमता भी है। राजन के अलावा तीन सेवानिवृत्त सरकारी कर्मचारियों श्री दत्तात्रेय राठी, दीपक नटवर लाल शाह और ललीता लकश्मनन भी राजन नकली पासपोर्ट के मामले में दोषी करार दिया गया है।

राजन दिल्ली की तिहाड़ जेल में कैद है। अन्य तीन अपराधियों फिलहाल जमानत पर रिहा हैं। जिन्हें निर्णय की घोषणा के बाद फिर से हिरासत में ले लिया गया। इस अदालत ने 28 मार्च को अपना फैसला सुरक्षित कर दिया था। राजन तीन सरकारी कर्मचारियों की मदद से मोहन कुमार के नाम पर नकली पासपोर्ट हासिल करने का आरोप था।

एक आरोपी ललीता ने इस मामले को बेंगलूर स्थानांतरित करने का अनुरोध किया था जिसे हाईकोर्ट ने 9 जनवरी को अस्वीकार कर दिया था और कहा था कि स्थानीय जिला अदालत में भी सुनवाई की जा सकती है। राजन को अक्टूबर 2015 के दौरान इंडोनेशिया के द्वीप बाली में गिरफ्तार करने के बाद भारत के संदर्भ किया गया था।

TOPPOPULARRECENT