Friday , August 18 2017
Home / AP/Telangana / नकली वीजा के नाम पर रोजगार का झांसा

नकली वीजा के नाम पर रोजगार का झांसा

हैदराबाद 08 अक्टूबर: बेरोज़गार युवाओं को नकली वीजा के जरिए बहार भेजने का झांसा देकर लाखों रुपये की धोका दही में शामिल तीन धोकाबाज़ों आयुक्त को टास्क फोर्स साउथ जोन टीम ने गिरफ्तार कर लिया। 28 वर्षीय मुहम्मद मुज़म्मिल मुईनबाग़ रियासतनगर ट्रावैलस का कारोबार चलाता है मार्च वर्ष 2016 में शेख खलील पाशा, मुहम्मद जाफर, मुहम्मद रहीम और अन्य युवाओं को बहार भेजने का दावा करते हुए 65 ता 75 हजार रुपये 6 लाख 55 हजार हासिल कर लिए।

पीड़ितों की ओर से कार्य वीजा देने के दबाव के मद्देनजर मुज़म्मिल ने अपने दो साथियों 23 वर्षीय मुहम्मद अहमद और 28 वर्षीय मुहम्मद अब्दुल अज़म की मदद से विजिट वीजा प्रदान किए और उन्हें यह भरोसा दिलाया कि शारजाह में पहुंचने के बाद उन्हें वहां का स्थानीय एजेंट नौकरी प्रदान करेगा।

यह बात गलत साबित होने के बाद युवा हैदराबाद लौट आए। इतना ही नहीं मुहम्मद अहमद ट्रेवल एजेंट 7 नकली वीजा प्रदान किए। युवाओं ने ट्रेवल एजेंस दुबारा प्रदान किए गए नकली वीजे का पता लगने के बाद शाह अली बंडह पुलिस से एक शिकायत दर्ज करवाई जिसके बाद आयुक्त टास्क फोर्स साउथ जोन टीम ने स्थानीय पुलिस की मदद से धोके बाज़ों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने बताया कि ट्रेवल एजेंट मुहम्मद अहमद और मुहम्मद अबदुल अज़म के खिलाफ धोका दही में शामिल होने पर पंजागुट्टा और फलकनुमा पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार किया। टास्क फोर्स ने गिरफ्तार आरोपियों के कब्जे से 7 नकली वीजा, कंप्यूटर, तीन मोबाइल फोन ज़ब्त कर लिए।

TOPPOPULARRECENT