Tuesday , October 17 2017
Home / India / नक़द रक़म रास्त मुंतक़ली स्कीम यू पी ए का इन्क़िलाबी क़दम

नक़द रक़म रास्त मुंतक़ली स्कीम यू पी ए का इन्क़िलाबी क़दम

नई दिल्ली, 16 दिसंबर: (पीटीआई) सदर कांग्रेस सोनीया गांधी ने मर्कज़ की नई रास्त नक़द रक़म मुंतक़ली स्कीम की भरपूर ताईद की और कहा कि इसके ज़रीया मुख़्तलिफ़ स्कीमात की नक़द रक़म रास्त इस्तिफ़ादा कुनुन्दगान (Users) के हाथ में जाएगी। उन्होंने इ

नई दिल्ली, 16 दिसंबर: (पीटीआई) सदर कांग्रेस सोनीया गांधी ने मर्कज़ की नई रास्त नक़द रक़म मुंतक़ली स्कीम की भरपूर ताईद की और कहा कि इसके ज़रीया मुख़्तलिफ़ स्कीमात की नक़द रक़म रास्त इस्तिफ़ादा कुनुन्दगान (Users) के हाथ में जाएगी। उन्होंने इसे यू पी ए हुकूमत के कई इन्क़िलाबी इक़दामात में से एक क़रार दिया।

सोनीया गांधी ने जो यू पी ए सदर नशीन भी हैं, पार्लीमेंट में बहुत जल्द फ़ूड सेक्योरिटी बिल भी पेश करने का ऐलान किया ताकि इस बात को यक़ीनी बनाया जा सके कि कोई ग़रीब ख़ानदान भूका ना रहे। सोनीया गांधी ने ये तब्सिरा हुकूमत दिल्ली के ग़ैरमामूली ग़िज़ाई प्रोग्राम अना श्री के आग़ाज़ के मौक़ा पर किया।

इस प्रोग्राम के तहत माहाना नक़द सब्सीडी 600 रुपये की रक़म ख़ानदान के सीनीयर तरीन ख़ातून अरकान के बैंक एकाऊंट में रास्त मुंतक़िल कर दी जाएगी। इस प्रोग्राम से तक़रीबन 2 लाख ग़रीब ख़ानदानों को फ़ायदा पहूंचेगा। सोनीया गांधी ने आधार की असास पर मुल्क के पहले नक़द रक़म मुंतक़ली प्रोग्राम की सताइश करते हुए कहा कि इस मौक़ा पर वो मर्कज़ी हुकूमत की रास्त नक़द रक़म मुंतक़ली सिस्टम का तज़किरा करना ज़रूरी समझती हैं।

इस स्कीम पर यक्म जनवरी से 51 अज़ला में अमल होगा और जुमला 34 इस्कीमात की नक़द रक़म रास्त इस्तिफ़ादा कुनुन्दों तक पहुंचाई जाएगी। उन्होंने कहा कि इस स्कीम का मक़सद ये है कि हुकूमत की रक़म जो पेंशन, स्कालरशिप, नरेगा उजरत की अदायगी और दीगर समाजी बहबूदी इस्कीमात के तहत फ़राहम की जा रही है वो रास्त इस्तिफ़ादा कनुंदा तक पहूंच जाए।

उसे बैंक एकाऊंटस और पोस्ट आफ़ीस के ज़रीया बिना किसी ताख़ीर के इस्तिफ़ादा कुनुंदों तक पहूँचाया जाएगा। सदर कांग्रेस ने ये भी वाज़िह किया कि नक़द रुकमी मुंतक़ली स्कीम पर ग़िज़ा और खाद से मुताल्लिक़ सब्सीडी प्रोग्राम्स पर अमल नहीं होगा। उन्होंने बताया कि नक़द रुकमी मुंतक़ली स्कीम को यू पी ए हुकूमत के मुतवाज़िन तरक़्क़ी के नज़रिया की बुनियाद पर वज़ा किया गया है जिसके ज़रीया ग़रीब अवाम की बहबूद अव्वलीन तर्जीह होगी।

सोनीया गांधी ने अराज़ी हुसूलयाबी बिल की भी सताइश की जिसे जुमेरात को काबीना ने मंज़ूरी दे दी है। उन्होंने कहा कि फ़ूड सेक्योरिटी बिल के बारे में भी काफ़ी चर्चे हैं और उसे पार्लीमेंट में बहुत जल्द पेश किया जाएगा। अना श्री स्कीम की सताइश करते हुए सोनीया गांधी ने कहा कि ये यू पी ए, कांग्रेस और हुकूमत दिल्ली की समाज के ग़रीब तबक़ात और उन्हें ग़िज़ाई तहफ़्फ़ुज़ के मुआमले में दिलचस्पी का मज़हर है।

उन्होंने कहा कि इस स्कीम की नुमायां ख़ुसूसीयत ये है कि रक़म रास्त इस्तिफ़ादा कुनुंदा ख़ानदानों के ख़वातीन के हाथों में जाएगी जिससे उनकी ख़ुद एतिमादी बढ़ेगी और ख़वातीन को बाइख़तियार बनाने में भी ये स्कीम मुआविन साबित होगी। सोनीया गांधी ने कहा कि सतह ग़ुरबत से नीचे ज़िंदगी गुज़ारने वाले ख़ानदानों की फ़हरिस्त के मुआमला में कई मसाइल पाए जाते हैं।

ऐसे कई ग़रीब ज़रूरतमंद ख़ानदान हैं जो इस फ़हरिस्त में शामिल नहीं। ये स्कीम इस बात को यक़ीनी बनाएगी कि सतह ग़ुर्बत से नीचे ज़िंदगी गुज़ारने वाला कोई भी ख़ानदान महरूम ना रहे।

TOPPOPULARRECENT