Thursday , September 21 2017
Home / India / नक्सलवादी विचारक “कोबाड गांधी” आतंकवाद के सभी ममलों से बरी

नक्सलवादी विचारक “कोबाड गांधी” आतंकवाद के सभी ममलों से बरी

नयी दिल्ली। माअाेवादी विचारक कोबाड गांधी को आज बड़ी राहत देते हुए दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने आतंक के जुड़े आरोपों से बरी कर दिया। साल 2009 में दिल्ली में गिरफ्तार किये गये कोबाड गांधी पर नक्सलवाद को बढ़ावा देने का आरोप था। हालांकि कोर्ट ने उन्हें धोखाधड़ी और जालसाजी के आरोप में दोषी पाया है। लेकिन इस मामले में दी गयी सजा वह पहले ही जेल में बिता चुके हैं। कोबाड गांधी अभी जेल में ही रहेंगे क्योंकि उनके खिलाफ चौदह अन्य मामले लंबित हैं।

पटियाला हाउस कोर्ट ने आज कोबाड गांधी को को गैर-कानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम के आरोपों से बरी कर दिया है। लेकिन भारतीय दंड संहिता के तहत धोखाधड़ी और जालसाजी के लिए दोषी करार दिया। कोर्ट ने उनके साथी राजेंद्र कुमार को भ्रष्टाचार के मामले में दोषी ठहराया, लेकिन आतंकवाद से जुड़े आरोप से उन्हें भी बरी कर दिया।

पुलिस के मुताबिक, कोबाड गांधी प्रतिबंधित भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) के नेटवर्क की दिल्ली में स्थापना करने में शामिल थे. 20 सितंबर 2009 को उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था। पुलिस ने कहा कि वे भाकपा (माओवादी) की गतिविधियों को बढ़ाने के लिए दिल्ली में रह रहे थे और इस काम में उनके सहयोगी राजेंद्र कुमार ने उनकी सहायता की।

TOPPOPULARRECENT