Wednesday , October 18 2017
Home / Bihar News / नक्सलियों के निशाने पर जेल और रेल

नक्सलियों के निशाने पर जेल और रेल

कंपकंपाती ठंड और घने कोहरे के दरमियान नक्सली अपने मंसूबों को अंजाम देने की फिराक में हैं। इस बार उनके निशाने पर रेल और जेल दोनों हैं। आइबी ने बिहार समेत मुल्क के पांच सबसे ज़्यादा नक्सल मुतासीर रियासतों को खास एहतियात बरतने से मुत

कंपकंपाती ठंड और घने कोहरे के दरमियान नक्सली अपने मंसूबों को अंजाम देने की फिराक में हैं। इस बार उनके निशाने पर रेल और जेल दोनों हैं। आइबी ने बिहार समेत मुल्क के पांच सबसे ज़्यादा नक्सल मुतासीर रियासतों को खास एहतियात बरतने से मुतल्लिक़ अलर्ट जारी कर दिया है। आइबी के अलर्ट में कहा गया है कि घने कोहरे का फाइदा उठाते हुए नक्सली ट्रेनों को अपना निशाना बना सकते हैं। उनके निशाने पर ट्रेनों की सेक्यूरिटी में तैनात रेल सेक्युर्टी फोर्स, रेलवे स्टेशन, रेल की पटरियां और मुसाफिर हो सकते हैं।

जबर्दस्त निगरानी : पुलिस हेड कुवर्टर ने अलर्ट के मद्देनजर रियासत से गुजरने वाली तमाम ट्रेनों और रेलवे स्टेशनों की सेक्यूरिटी बढ़ा दी है। एक आला अफसर ने बताया कि ट्रेनों और जेलों की सेक्यूरिटी के लिए इजाफा फोर्स की मुकर्रर भी की जा चुकी है। तमाम हेसास रेलवे स्टेशनों और रेल खंडों की जबर्दस्त निगरानी की जा रही है। जिन पांच रियासतों को अलर्ट किया गया है उनमें बिहार के अलावा झारखंड, ओडिशा, छत्तीसगढ़ और प. बंगाल शामिल हैं। खुफिया ज़राये से मिली जानकारी के मुताबिक नक्सलियों की तरफ से घने कोहरे में रेल और जेल पर हमले की साजिश मुतल्लिक़ कई खुफिया इनपुट आइबी को मिले हैं।

इन खुफिया इनपुट की बुनियाद पर आइबी ने यह ताजा अलर्ट 24 दिसबंर को जारी किया है। जेलों पर नक्सली हमले की खदशा से पहले ही पांचों रियासतों को आइबी की तरफ से अलर्ट किया जा चुका है। कुछ रियासतों की पुलिस ने जेलों पर हमले से निबटने के लिए वहां अपना ‘मॉक ड्रिल’ किया है। बिहार पुलिस भी कई जिलों में जेलों की सेक्यूरिटी को लेकर अपना ‘मॉक ड्रिल’ कर चुकी है, साथ ही सेक्यूरिटी को भी सख्त कर दिया गया है। घने कोहरे के दरमियान नक्सलियों की तरफ से ट्रेनों को निशाना बनाया जाना कोई नयी बात नहीं है। साबिक़ में भी उन्होंने बिहार, झारखंड और प. बंगाल से होकर गुजरनेवाली ट्रेनों को अपना निशाना बनाया है। आइबी ने अपने अलर्ट में रियासतों के कुछ सबसे ज़्यादा नक्सल मुतासीर इलाकों का भी जिक्र किया है, जिनमें बिहार के जमुई, लखीसराय, गया-गोमो रेलखंड, गया-बनारस रेल खंड और झारखंड के धनबाद रेल मंडल का लातेहार रेलवे स्टेशन शामिल हैं।

TOPPOPULARRECENT