Wednesday , October 18 2017
Home / Bihar News / नक्सलियों को दिये 3.5 करोड़

नक्सलियों को दिये 3.5 करोड़

बिहार में सड़क तामीर के मैदान में काम कर रहे एक कंपनी की तरफ से नक्सलियों को फाइनेंस करने का मामला उजागर हुआ है। शुमाली बिहार का दहशत माने जानेवाले नक्सली संतोष झा गिरोह को वशिष्टा कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड, गुंटूर, आंध्रप्रद

बिहार में सड़क तामीर के मैदान में काम कर रहे एक कंपनी की तरफ से नक्सलियों को फाइनेंस करने का मामला उजागर हुआ है। शुमाली बिहार का दहशत माने जानेवाले नक्सली संतोष झा गिरोह को वशिष्टा कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड, गुंटूर, आंध्रप्रदेश की तरफ से 3.50 करोड़ रुपये फाइनेंस किया गया है। संतोष झा गिरोह के खिलाफ कार्रवाई में जुटे स्पेशल टास्क फोर्स को कई अहम सुबूत हाथ लगे है।

पुलिस हेड क्वार्टर इन सुबूतों की बुनियाद पर ‘टेरर फाइनेंस’ में मौलूस होने के इल्ज़ाम में वशिष्टा कंस्ट्रक्शन के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की तैयारी कर रही है। पुलिस हेड क्वार्टर के आला अफसर की मानें, तो बिहार में मुखतलिफ़ इलाकों में काम कर रहे सड़क तामीर कंपनियों की तरफ से रंगदारी मांगे जाने की शिकायत पुलिस इंतिजामिया को की जाती थी, साथ ही इन कंपनियों की तरफ से नक्सलियों को फाइनेंस करने की इत्तिला भी मिलती रहती थीं, लेकिन यह पहला मौका है, जब किसी कंस्ट्रक्शन कंपनी की तरफ से नक्सलियों को भारी रकम की अदायगी करने के सुबूत मिले है। इस सिलसिले में वशिष्टा कंस्ट्रक्शन के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जायेगी। कंपनी से इस सिलसिले में अपना फरिक़ रखने की हिदायत दिया गया है।

करोड़ों देने में कानून आ रहा आड़े : पुलिस हेड क्वार्टर ज़राये की मानें तो सड़क तामीर में जुटी कंपनियों के तरफ से नक्सलियों और मुजरिम गिरोहों को बतौर रंगदारी 20 से 30 लाख रुपये तो कैश ही फराहम करा दिये जाते है, लेकिन करोड़ों रुपये देने में कानूनी अमल आड़े आ जा रही हैं। यही वजह है कि फर्जी तरीके से ‘टेरर फाइनेंस’ के नये तरीके ढ़ूंढ़ लिये गये है।

TOPPOPULARRECENT