Wednesday , October 18 2017
Home / Uttar Pradesh / नक्सल स्कूली बच्चों को किया था अगवा, अभी तक नहीं आये

नक्सल स्कूली बच्चों को किया था अगवा, अभी तक नहीं आये

गुमला 24 जून : नक्सल तंजीम कम्युनिस्ट माओ नवाज की तरफ से ले जाये गये गुमला वाक़ेय कुमारी गांव के छह स्कूली बच्चों का अब तक पता नहीं है। गावं वालों ने कहा था कि वो लौट आये हैं। उन्हें इतवार को मीडिया के सामने लाया जायेगा। 21 जून को खबर छा

गुमला 24 जून : नक्सल तंजीम कम्युनिस्ट माओ नवाज की तरफ से ले जाये गये गुमला वाक़ेय कुमारी गांव के छह स्कूली बच्चों का अब तक पता नहीं है। गावं वालों ने कहा था कि वो लौट आये हैं। उन्हें इतवार को मीडिया के सामने लाया जायेगा। 21 जून को खबर छापी थी कि माओनवाज इन बच्चों को तंजीम में शामिल करने के लिए साथ ले गये हैं।

वाकिया के दूसरे दिन माओनवाज जोनल कमांडर नुकुल यादव के दस्ते ने सहफियों को गांव जाने से मना कर दिया था। नकुल यादव ने सहफियों को बताया था कि गांव के लोग तंजीम में आते-जाते रहते हैं।

हालांकि 22 जून को बिशुनपुर ब्लाक पहुंचे छह गाँव के प्रधान सुशील उरांव, शादी राम, राजेश सिंह, विदेश उरांव, संजय उरांव व छौवा उरांव ने तहरीरी दरख्वास्त के साथ दावा किया था कि वो मेहमानी गये थे। तमाम गांव लौट आये हैं। गावं के लोगों ने कहा था कि इतवार की सुबह 10 बजे इन बच्चों को उनके अहले खाना के साथ मीडिया के सामने लायेंगे। लेकिन ग्रामीण इन बच्चों को लेकर नहीं आये। इन बच्चों के अहले खाना भी नहीं आये।

तीन दिन बाद गांव पहुंची पुलिस

स्कूली बच्चों को गांव से उठा लिये जाने के तीन दिन बाद इतवार को पुलिस कुमारी गांव की तरफ गये। पुलिस चार- पांच दलों में बंट कर गांव की तरफ गयी। देर शाम तक पुलिस नहीं लौटी थी। कुमारी गांव बिशुनपुर से तकरीबन 30 किमी दूर बीहड़ इलाका में मौजूद है। पुलिस के गांव से लौटने के बाद ही मामले का खुलासा हो पायेगा।

TOPPOPULARRECENT