Monday , October 23 2017
Home / Sports / नडाल फाईनल में रसाई

नडाल फाईनल में रसाई

राफ़िल नडाल ने राजर फ़ेडरर के ख़िलाफ़ अपने ग़लबा को बरक़रार रखते हुए यहां ऑस्ट्रेलियन ओपन 2014 के सेमीफाइनल में अपने हरीफ़ खिलाड़ी को 7-6(4), 6-3,6-3 से मात देते हुए फाईनल में रसाई हासिल करली है।

राफ़िल नडाल ने राजर फ़ेडरर के ख़िलाफ़ अपने ग़लबा को बरक़रार रखते हुए यहां ऑस्ट्रेलियन ओपन 2014 के सेमीफाइनल में अपने हरीफ़ खिलाड़ी को 7-6(4), 6-3,6-3 से मात देते हुए फाईनल में रसाई हासिल करली है।

नडाल का 14 वीं ग्रांड सलाम ख़िताब के लिए इतवार को स्विटज़रलैंड के एक और खिलाड़ी वाओरंका से मुक़ाबला होगा। नडाल ऐसे पहले खिलाड़ी होने की सिम्त गामज़न हैं जिसने दो मर्तबा चारों ग्रांड सलाम ख़ताब हासिल किए हैं। हिंदुस्तानी टेनिस स्टार सानिया मिर्ज़ा अपने केरिय‌र के तीसरे मिक्स्ड डबल्स‌ ख़िताब से सिर्फ़ एक कामयाबी दूर है जैसा कि वो आज अपनी रुमानिया के साथी खिलाड़ी होरिया टिकाऊ के साथ‌ ऑस्ट्रेलियन ओपन के फाईनल में रसाई हासिल करली है।

सानिया जोड़ी ने ऑस्ट्रेलियाई मुक़ामी जोड़ी जरमेला गॉड जूसवा और मीथो एबडन को एक सख़्त मुक़ाबले के बाद 2-6 , 6-3 , 10-2 से मात दे कर फाईनल में रसाई हासिल करली है जहां सानिया जोडी का मुक़ाबला फ़्रांस की मलाडीनोक और कनेडा के डेनियल निस्टर से होगा जिन्होंने चीनी खिलाड़ी जांग ज़ंग और अमेरिकी टेनिस स्टार लेप्सकी को रास्त सीटों में 6-3 , 6-1 से मात दी।

सानिया जोड़ी ने एक घंटा और 13 मिनटों पर मुश्तमिल इस सख़्त मुक़ाबले में शानदार मुज़ाहरे किये। चूँकि पहले सीट में नाकामी और फिर दूसरे सीट पर कामयाबी के बाद मुक़ाबला फ़ैसलाकुन सीट में किसी भी सिम्त जा सकता था। पहले सीट में सानिया जोडी का मुज़ाहरा इंतिहाई मायूसकुन रहा जहां उन्हें एक भी ब्रेक निशान हासिल नहीं हुआ जबकि हरीफ़ जोड़ी ने सिर्फ़ 28 मिनटों में सीट अपने नाम करते हुए मुक़ाबले में सबक़त बना ली थी।

TOPPOPULARRECENT