Tuesday , September 19 2017
Home / India / नरोदा पाटिया के दंगाई बाबू बजरंगी को ज़मानत

नरोदा पाटिया के दंगाई बाबू बजरंगी को ज़मानत

अहमदाबाद :  गुजरात हाई कोर्ट ने आज बजरंग दल के नेता और नरोदा पाटिया केस के दोषी को एक हफ्ते के लिए जमानत दे दी है।

बाबू बजरंगी ने अपनी पत्नी के ख़राब स्वास्थ्य का कारण बता कर कोर्ट में तीस दिनों के लिए जमानत की अर्ज़ी दी थी। अर्ज़ी की सुनवाई करते हुए जस्टिस ए एस सुपहिया ने बाबू बजरंगी को एक हफ्ते की जमानत दे दी है। जबकि जून में जस्टिस हर्षा दीवानी एवं जस्टिस बीरन वेशनव की बेंच ने बजरंगी की अस्थाई जमानत की अर्ज़ी को यह कह कर ख़ारिज कर दिया कि जेल रिकॉर्ड के अनुसार उसे तीन साल साथ महीने और दो दिन की सज़ा की अवधि के दौरान तेरह मौक़ों पर अस्थाई जमानत ले चूका है। इस अर्जी को रद्द करते हुए बेंच ने यह आदेश दिया था कि इतनी जमानत लेने के बाद आगे उसकी जमानत की अर्ज़ी को क़ुबूल नहीं किया जायेगा।

हालाँकि इसी फ़रवरी में एक बार आँखों के इलाज़ के लिए वह अस्थाई जमानत ले चूका है। बाबू बजरंगी ने बीते साल गुजरात के गवर्नर से अपनी पत्नी द्वारा अपनी सजा को माफ़ करवाने के लिए अर्ज़ी भेजी थी जिसमें बजरंगी की तरफ से यह कहा गया था कि मेरी आँखों की रौशनी चली गयी है लिहाज़ा मेरी सज़ा को माफ़ किया जाये और मुझे जेल से मुक्त कर दिया जाये। बजरंगी साबरमति सेंट्रल जेल में क़ैद था। बजरंगी को 2002 में गोधरा कांड के बाद नरोदा पाटिया में लोगों को जिंदा जलाने का दोषी मानते हुए 2012 में फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट द्वारा आजीवन कारावास की सज़ा दी गयी है।

TOPPOPULARRECENT