Tuesday , October 24 2017
Home / World / नवाज़ शरीफ़ की इक़तिदार पर शानदार वापसी ,पाकिस्तान पीपुल्स‌ पार्टी को शदीद धक्का

नवाज़ शरीफ़ की इक़तिदार पर शानदार वापसी ,पाकिस्तान पीपुल्स‌ पार्टी को शदीद धक्का

ईस्लामाबाद/ लाहौर 13 मई : नवाज़ शरीफ़ पाकिस्तान के वज़ीर-ए-आज़म की हैसियत से तीसरी मर्तबा शानदार वापसी के साथ इक़तिदार हासिल करेंगे।

ईस्लामाबाद/ लाहौर 13 मई : नवाज़ शरीफ़ पाकिस्तान के वज़ीर-ए-आज़म की हैसियत से तीसरी मर्तबा शानदार वापसी के साथ इक़तिदार हासिल करेंगे।

उनकी पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नून ) को तारीख़ी आम इंतिख़ाबात में अपने कट्टर हरीफ़ों पर बढ़‌त‌ हासिल हो रही है। 1999 में फ़ौजी बग़ावत के बाद बेदखली, मुहर वसी और जिलावतनी की ज़िंदगी गुज़ार कर नवाज़ शरीफ़ 2008 में वतन वापिस हुए थे।

पहली मर्तबा जमहूरी हुकूमत की मीयाद पूरी होने के बाद दूसरी जमहूरी हुकूमत इक़तिदार हासिल कर रही है। हफ़्ता को हुई राय दिही ने इस मुल्क की कई ख़ानदानी सियासी पार्टीयों की उमीदों पर पानी फेर दिया है। 63 साला शरीफ़ सूबा पंजाब में स्टील की दौलत से मालामाल सनअत के मालिक हैं।

उनके मुक़ाबिल साबिक़ क्रिकेटर से सियासत दां बनने वाले इमरान ख़ान सब से बड़ा चैलेंज बन कर खड़े थे और वो भुट्टो ख़ानदान की ज़ेर-ए-क़ियादत पाकिस्तान पीपुल्स‌ पार्टी के लिए भी ख़तरा बन गए थे, लेकिन उनकी पार्टी पाकिस्तान तहिरीक-ए-इंसाफ़ ने उन नताइज में अपनी हार‌ को मान लिया है।

272 रुकनी पार्लियामेंट में नवाज़ शरीफ़ की पार्टी को अब तक 125 नशिस्तों पर कामयाबी मिल रही है जबकि इमरान ख़ान की पाकिस्तान तहिरीक-ए-इंसाफ़ और पाकिस्तान पीपुल्स‌ पार्टी को 34 और 32 नशिस्तों पर बढ़त‌ हासिल है। नवाज़ शरीफ़ को एक ऐसे वक़्त तीसरी मर्तबा इक़तिदार हासिल हो रहा है जब पाकिस्तान को बढ़ती इंतिहा पसंदी, मज़बूत तालिबान की मौजूदगी के बड़े चैलेंजस का सामना है।

इसके अलावा मुल्क के शुमाल मग़रिबी हिस्सा में इंतिहा पसंद ताक़तें सरगर्म हैं। बड़े पैमाने पर रिश्वतखोरी, अमेरीका के साथ पेचीदा ताल्लुक़ात और गुजिश्ता चंद सालों के दौरान मआशी(आर्थिक) सतह पर पाकिस्तान अमलन पीछे हो चुका है। उन्होंने पहले ही ये वाज़ह कर दिया था कि वो 1999 में इक़तिदार से बेदख़ली के बाद हिंद – पाक ताल्लुक़ात की सतह जहां पर क़ायम थी, वहीं से उन ताल्लुक़ात को बडाऐगे देंगे।

पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नून ) ने तालिबान की धमकियों और तशद्दुद की परवाह किए बगै़र लाखों बहादुर और दिलेर पाकिस्तानियों की राय दिही के बाद क़ौमी सतह पर कामयाबी हासिल की है। इंतिख़ाबात के दौरान तशद्दुद में 50 अफ़राद के मौत‌ हुए थे। नवाज़ शरीफ़ ने कल रात ही लाहौर में अपनी रिहाइश गाह पुरजोश हामियों के ग्रुप से ख़िताब करते हुए ऐलान किया था कि इंतिख़ाबात में उनकी ही पार्टी को कामयाबी मिलेगी।

उन्होंने अव्वाम से अपील की थी कि नताइज उनकी पार्टी के हक़ में निकलने के लिए दुआ करें, ताकि उन्हें किसी कमज़ोर मख़लूत हुकूमत की क़ियादत ना करना पड़े।

मुल्क भर से नताइज का रुजहान मिल रहा है लेकिन अभी तक ये तौसीक़(पुष्टि) नहीं होसकी कि पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नून ) को कितनी नशिस्तें हासिल हुई हैं। नवाज़ शरीफ़ ने कहा कि वो दहश्तगर्दी से निमटने के लिए एक नई क़ौमी पालिसी बनाऐंगे।

TOPPOPULARRECENT