Sunday , October 22 2017
Home / Khaas Khabar / नशीद रिहा हुए , चार हफ्ते तक गिरफ्तारी मुम्किन नहीं

नशीद रिहा हुए , चार हफ्ते तक गिरफ्तारी मुम्किन नहीं

मालदीव के साबिक सदर मुहम्मद नशीद को मंगल को गिरफ्तार किया गया था। बुध को उन्हें रिहा कर दिया गया। सफारती ज़राए के मुताबिक हिंदुस्तान समेत कई बड़ी ताकतों के कड़े रुख के बाद मालदीव की हुकूमत ने नशीद को कोर्ट से रिहा करने को कहा ।

मालदीव के साबिक सदर मुहम्मद नशीद को मंगल को गिरफ्तार किया गया था। बुध को उन्हें रिहा कर दिया गया। सफारती ज़राए के मुताबिक हिंदुस्तान समेत कई बड़ी ताकतों के कड़े रुख के बाद मालदीव की हुकूमत ने नशीद को कोर्ट से रिहा करने को कहा ।

वाजेह है कि मंगल को यहां वज़ारत ए खारेजा के तरजुमान ने कड़ा बयान जारी कर कहा था कि मालदीव के हालात पर हिंदुस्तान की नजर है। हिंदुस्तान ने सदर मुहम्मद वहीद की हुकूमत को चेताया था कि ऐसा कोई भी कदम नहीं उठाए जिससे मालदीव की जमहूरियत निज़ाम पर आंच आये। कोलंबो में अमेरिकी दूतावास ने भी अहम बयान जारी कर वहीद हुकूमत को आगाह किया था कि मालदीव के ताजा हालात से अमेरिका काफी फिकरमंद है।

मालदीव की अदालत ने नशीद के खिलाफ सुनवाई चार हफ्ते के लिए टाली है। माना जा रहा है कि नशीद के खिलाफ कोर्ट में इसी तरह की कार्रवाई कुछ वक्फे पर चलती रहेगी और अगले इलेक्शन तक उनके खिलाफ कोई बड़ा कदम नहीं उठाया जाएगा।

वाजेह है कि मालदीव में सितंबर में सदर के इलेक्शन का ऐलान हो चुका है। माना जा रहा है कि मुहम्मद वहीद की हुकूमत इस इलेक्शन में मुहम्मद नशीद की पार्टी को हिस्सा लेने का मौका नहीं देना चाहती है, इसलिए उनके खिलाफ एक जज को गिरफ्तार करवा कर कानून तोड़ने का पुराना मसला उठाते हुए उन्हें अदालत से गिरफ्तार करवाने का हुक्म जारी करवाया।

यहां सिफारती ज़राए मानना है कि मालदीव में चीन के दम पर वहीद हुकूमत हिंदुस्तान की सलाह की अनदेखी कर रही है लेकिन अब चीन को भी समझ आ गया है कि वह वहीद हुकूमत पर तभी अपना दांव चलाएगा जब उसे भरोसा हो कि वह अगले चुनावों में कामयाब होंगे।

TOPPOPULARRECENT